Wednesday, Jun 26, 2019

NEET : राजस्थान के नलिन ने किया टॉप, दिल्ली दूसरे और UP तीसरे नम्बर पर

  • Updated on 6/6/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। भारतीय चिकित्सा परिषद (एमसीआई) और भारतीय दंत परिषद (डीसीआई) द्वारा मान्यता प्राप्त मेडिकल और डेंटल कॉलेजों में एमबीबीएस और बीडीएस पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए आयोजित की जाने वाली राष्ट्रीय योग्यता सह प्रवेश परीक्षा (नीट) 2019 का राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (एनटीए) द्वारा बुधवार को परिणाम जारी कर दिया गया। जिसमें राजस्थान के नलिन खंडेलवाल ने सर्वाधिक अंक प्राप्त कर देश भर में पहला स्थान हासिल किया है। नलिन ने परीक्षा में अधिकतम 720 में से 701 अंक प्राप्त किए हैं। 

दिल्ली के भाविक बंसल और उत्तर प्रदेश के अक्षत कौशिक ने 720-720 अंक हासिल कर क्रमश: दूसरा और तीसरा स्थान हासिल किया है। लेकिन बंसल को दूसरा स्थान इसलिए दिया गया क्योंकि उन्होंने जीव विज्ञान में कौशिक से अधिक अंक प्राप्त किये थे। हरियाणा के स्वास्तिक भाटिया ने 696 अंक हासिल कर चौथा और 695 अंक हासिल कर उत्तर प्रदेश के अनंत जैन पांचवें स्थान पर रहे। लड़कियों में तेलंगाना की माधुरी रेड्डी ने सूची में पहला स्थान प्राप्त किया और वह 695 अंक लेकर सातवें स्थान पर रहीं।

दिव्यांग कैटेगरी में राजस्थान के भेराराम ने 604 अंक पाकर सूची में शीर्ष स्थान हासिल किया है। यूपी की सभ्यता सिंह 610 अंक लाकर दिव्यांग कैटेगरी में पहले स्थान पर रहीं। बता दें इस वर्ष की नीट परीक्षा के लिए देशभर से 15 लाख 19 हजार 375 अभ्यर्थियों ने रजिस्ट्रेशन कराया था जिसमें इस परीक्षा में कुल 14 लाख 10 हजार 755 अभ्यर्थी शामिल हुए। जिसमें 7 लाख 97 हजार 42 अभ्यर्थियों ने नीट परीक्षा उत्तीर्ण की है। परीक्षा में 6 ट्रांसजेंडरों ने रजिस्टर कराया था जिसमें 5 ने परीक्षा दी और परिणाम में 3 ट्रांसजेंडर सफल हुए हैं। एनटीए ने नीट परीक्षा का आयोजन 5 और 20 मई को 11 भाषाओं और 2546 परीक्षा केन्द्रों पर कुल 154 शहरों में किया गया था।  

नीट परीक्षा में पास नहीं होने पर युवती ने आत्महत्या की
कोयंबटूर: तिरुपुर की 17 वर्षीय एक लड़की ने राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (नीट) में विफल रहने पर कथित तौर पर आत्महत्या कर ली।     पुलिस ने बताया कि ऋतुश्री नीट परीक्षा पास करने में विफल रही और अवसाद में उसने अपने घर में कथित तौर पर फांसी लगा ली। नीट परीक्षा परिणामों की घोषणा आज सुबह की गई। ऋतुश्री को नीट में पास होने और मेडिकल पाठ्यक्रम में दाखिला मिलने की उम्मीद थी क्योंकि उसे 12 वीं कक्षा की परीक्षा में 490 अंक आए थे। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.