Monday, May 10, 2021
-->
nepal prohibits disputed map book sohsnt

भारत के खिलाफ चीन की चाल नाकाम, नेपाल ने विवादित नक्शे वाली किताब पर लगाई रोक

  • Updated on 9/22/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। भारत-चीन सीमा विवाद (India china Border Dispute) को लेकर जारी तनाव के बीच चीन के इशारे पर नेपाल (Nepal) की ओर से जारी किए गए विवादित नक्शे वाली किताब के वितरण पर ओली सरकार ने रोक लगा दी है। नेपाल के विदेश मंत्रालय और भू प्रबंधन मंत्रालय ने शिक्षा मंत्रालय की ओर से जारी इस किताब की विषयवस्तु पर आपत्ति दर्ज कराई है, जिसके बाद ओली सरकार के निर्देश पर किताब के वितरण और प्रकाश पर रोक लगाने हेतु शिक्षा मंत्रालय को निर्देश जारी कर दिया गया है।  

PM मोदी की संयुक्त राष्ट्र को चेतावनी, कहा- मंडरा रहा ‘भरोसे की कमी का संकट’

काठमांडू रिपोर्ट में कही गई ये बात
विवादित नक्शे को लेकर काठमांडू रिपोर्ट से मिली जानकारी के मुताबिक विदेश मंत्रालय और भू प्रंबधन मंत्रालय ने कहा था कि जारी की जा रही किताब में तथ्यात्मक गल्तियां और अनुचिट कंटेंट है जिसके चलते इसके प्रकाशन पर रोक लगाई गई है। वहीं इस मामले पर कानून मंत्री शिव माया का कहना है कि 'हमने यह निष्‍कर्ष निकाला है कि किताब के वितरण पर रोक लगा दी जाए।' उन्होंने कहा कि कई गलत तथ्‍यों के साथ संवेदनशील मुद्दों पर किताब का प्रकाशन गलत कदम था।

भारत के खिलाफ पाकिस्तान की नई साजिश, कार्यवाहक उच्चायुक्त को नहीं देगा वीजा

बच्चों की एक किताब में विवादित नक्शा
मालूम हो कि पूर्वी लद्दाख में सीमा विवाद को लेकर भारत-चीन के बीच तनावपूर्ण महौल बना हुआ है। ऐसे में नेपाल विवादित नक्शे को लेकर चीन के उकसावे में आ गया और ये कदम उठा लिया। मामला यहीं तक नहीं रुका नेपाल सरकार ने बच्चों की एक किताब में विवादित नक्शे को भी प्रकाशित करा दिया इसके साथ-साथ नेपाल-भारत सीमा विवाद का भी जिक्र किया गया है।

चीन ने 80 लाख मुस्लिमों को कर रखा है कैद, खुफिया रिपोर्ट में हुआ खुलासा

नेपाल द्वारा इन जगहों पर ठोका जा रहा है दावा
इसके अलावा नेपाल की सत्ताधारी पार्टी नेपाली कम्युनिस्ट पार्टी (Communist Party) ने भारत के नए इलाकों को अपना बताने का दुष्प्रचार शुरू कर दिया है। नेपाल द्वारा जिन जगहों पर दावा ठोका जा रहा है उसमें उत्तराखंड, हिमाचल, उत्तर प्रदेश, बिहार और सिक्किम तक के प्रमुख शहर शामिल है। साल 1816 में हुई सुगौली संधि से पहले के नेपाल की तस्वीर दिखाकर नेपाल के नागरिकों को भ्रमित किया जा रहा है।

इमरान खान को हटाने के लिए गोलबंद हुईं विपक्षी पार्टियां, बनाया गठबंधन

विवादित नक्शा को संसद कराया पास
गौरतलब है कि भारत और नेपाल के रिश्ते आज सबसे खराब दौर से गुजर रहे हैं। हाल ही में नेपाल ने भारत सरकार की चेतावनी के बाद भी भारत के उत्तराखण्ड राज्य के लिपुलेख और कालापानी जैसे हिस्सों को नेपाल का हिस्सा बताकर एक नया विवादित नक्शा अपनी संसद से पास कर दिया है। जिससे दोनों देशों के रिश्ते अपने सबसे खराब दौर में पहुंच गए हैं। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.