Tuesday, Jan 25, 2022
-->
New library will open, code of conduct will not stop the pace of development

खुलेंगी नई लाइब्रेरी, आचार संहिता नहीं रोक सकेगी विकास की रफ्तार

  • Updated on 11/27/2021

नई दिल्ली/टीम डिजीटल। नगर निगम की बोर्ड बैठक में कुछ महत्वपूर्ण फैसले लिए गए हैं। भविष्य में इसका लाभ नागरिकों को मिल सकेगा। अगले विधान सभा चुनाव की आचार संहिता लागू होने से पहले प्रस्तावित विकास कार्यों को शुरू कराने अथवा अंजाम तक पहुंचाने की हरसंभव कोशिश की जाएगी। जरूरी प्रक्रिया पूर्ण होने पर आचार संहिता के दौरान भी काम जारी रह सकेंगे। इसके अलावा प्रत्येक जोन में लाइब्रेरी सुनिश्चित करने का निर्णय लिया गया है। इंदिरापुरम कॉलोनी को टेकओवर करने की फिलहाल कोई संभावना नहीं है।

बोर्ड बैठक में पार्षदों ने मंजूरी के बावजूद विकास कार्य न होने का मुद्दा जोर-शोर से उठाया था। जिस पर नगरायुक्त महेंद्र सिंह तंवर ने भरोसा दिलाया कि प्रत्येक वार्ड में 60-60 लाख रुपए के विकास कार्य कराए जाएंगे। विधान सभा चुनाव के मद्देनजर आचार संहिता लागू होने से पहले या तो काम पूर्ण करा दिए जाएंगे अथवा शुरू हो जाएंगे। आचार संहिता लागू होने पर भी यह कार्य जारी रह सकेंगे। इसके अतिरिक्त प्रत्येक जोन में ओपन जिम, सभी वार्डों में पार्कों को विकसित करने, प्राथमिक चिकित्सा केंद्र के लिए भूमि देने, डूंडाहेड़ा गांव में 50 बेड के सरकारी अस्पताल के लिए भूमि उपलब्ध कराए जाने इत्यादि प्रस्ताव मंजूर किए गए हैं।

सिटी, कविनगर, विजय नगर, मोहन नगर और वसुंधरा जोन में नए पुस्तकालय खुलने से खासकर विद्यार्थी वर्ग को लाभ मिलेगा। बोर्ड बैठक में 1262 करोड़ रुपए की आय और लगभग 1100 करोड़ रुपए व्यय का बजट प्रस्ताव प्रस्तुत किया गया। वास्तविक बजट 30 सितंबर तक का दर्शाया गया। नगर निगम के पास 380 करोड़ रुपए रिजर्व में हैं। सितंबर तक नगर निगम की कुल आय 413 करोड़ 17 लाख रुपए हुई है। महापौर और नगरायुक्त ने कहा कि शहर हित में सुविधाओं की कमी नहीं होने दी जाएगी। इस अवसर पर अपर नगरायुक्त आर.एन. पांडेय, प्रमोद कुमार, शिव पूजन यादव, लेखाधिकारी आर.के. गौतम, मुख्य कर निर्धारण अधिकारी डॉ. एस.के. सिन्हा, अधिशासी अभियंता देशराज सिंह आदि मौजूद रहे।  

comments

.
.
.
.
.