Thursday, Jan 27, 2022
-->
new policy: parking will end if facilities are not available

नई पॉलिसी : सुविधाएं न होने पर खत्म होगी पार्किंग

  • Updated on 9/2/2021

नई दिल्ली/टीम डिजीटल। जनपद गाजियाबाद में वैध पार्किंग स्थलों पर अब बुनियादी सुविधाओं की व्यवस्था करना अनिवार्य होगा। वहां शेड, पेयजल और शौचालय इत्यादि का प्रबंध करना पड़ेगा। इसके अलावा पार्किंग शुल्क की सूची व उत्तरदायी अधिकारी का नाम, पद और मोबाइल नंबर प्रदर्शित किया जाएगा। नगर निकायों को इस संबंध में जिम्मेदारी सौंपी गई है। नई पॉलिसी का पालन न होने पर संबंधित पार्किंग स्थल का ठेका तत्काल निरस्त कर दिया जाएगा।

सड़क पटरी पर संचालित वैध अथवा अवैध पार्किंग को भी बंद कराया जाएगा। जिले में पार्किंग स्थलों के संचालन के लिए नई गाइड लाइन जारी की गई हैं। उत्तर प्रदेश शासन ने इस संदर्भ में नगर निकायों को आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किए हैं। वैध-अवैध पार्किंग स्थलों पर अक्सर संचालकों की मनमानी देखने को मिलती है। वैध पार्किंग स्थल नगर निकायों के लिए कमाई का अच्छा जरिया हैं। जबकि अवैध पार्किंग स्थल से नगर निकाय के स्टाफ के अलावा पुलिस की भी अच्छी-खासी आमदनी होती है।

उप्र शासन ने पार्किंग स्थलों को लेकर एकाएक सख्त रूख अपनाया है। अवैध पार्किंग स्थलों को जल्द बंद कराने के आदेश दिए गए हैं। इसके अतिरिक्त वैध पार्किंग स्थल पर अवस्थापना सुविधाओं की उपलब्धता सुनिश्चित करने को कहा गया है। यानी प्रत्येक वैध स्थल पर शेड, पेयजल और शौचालय की व्यवस्था करनी होगी। इससे वाहन चालकों को भी राहत मिल सकेगी। अब तक किसी भी पार्किंग स्थल पर इस प्रकार की सुविधाएं मयस्सर नहीं हैं। 

सड़क पटरी नो पार्किंग जोन
स्थानीय निकाय निदेशालय, लखनऊ के सहायक निदेशक सुशील चंद्र गुप्त ने इस सिलसिले में नगर निगम गाजियाबाद के अलावा नगर पालिका परिषद लोनी, खोड़ा-मकनपुर, मुरादनगर एवं मोदीनगर के अलावा नगर पंचायत डासना, पतला, निवाड़ी व फरीदनगर को पत्र भेजकर उपरोक्त बिंदुओं पर कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। नगरायुक्त और संबंधित अधिशासी अधिकारियों को गाइड लाइन का पालन कराकर लखनऊ रिपोर्ट भेजनी होगी। प्रत्येक पार्किंग स्थल पर पार्किंग शुल्क की सूची, संबंधित निगम के उत्तरदायी अधिकारी का नाम, पदनाम एवं मोबाइल नंबर भी प्रदर्शित किया जाएगा ताकि यदि किसी वाहन चालक को कोई परेशानी है तो वह संबंधित अधिकारी से फोन पर संपर्क कर सके।

30 वैध पार्किंग स्थल
नगर निगम के सिटी, कविनगर, विजय नगर, मोहन नगर एवं वसुंधरा जोन में कुल 30 वैध पार्किंग स्थल हैं। इन स्थलों को ठेके पर दिया गया है। लगभग सभी स्थलों पर शेड, पेयजल एवं शौचालय इत्यादि की सुविधा नदारद है। पांचों जोन में विभिन्न स्थानों पर अवैध तरीके से भी पार्किंग स्थल चल रहे हैं। पार्षद आए दिन इस संदर्भ में शिकायत भी करते हैं, मगर प्रभावी कार्रवाई नहीं हो पाती है। शासन ने कहा है कि सड़क पटरी पर कोई भी पार्किंग स्थल संचालित न होने दिया जाए। यदि किसी नगर निकाय ने सड़क पटरी पर पार्किंग का ठेका छोड़ रखा है तो उसे तत्काल निरस्त कर दिया जाए। शासन ने साफ कहा है कि नई गाइड लाइन के अनुरूप काम न होने और शिकायत मिलने पर जिम्मेदारी अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। 

comments

.
.
.
.
.