Sunday, Jan 23, 2022
-->
news-reporting-low-death-toll-from-kovid-baseless-and-misleading-government

कोविड से मौत की संख्या कम बताने वाली खबरें निराधार और भ्रामक: सरकार

  • Updated on 1/14/2022

नई दिल्ली। टीम डिजिटल। हाल ही में कोविड 19 की पहली दो लहरों में हुई मौतों की संख्या को काफी कम करके बताने को लेकर कई खबरें आईं थीं, जिनका खंडन स्वास्थ्य मंत्रालय ने किया है। मंत्रालय का कहना है कि यह सभी खबरें भ्रामक, जानकारी के अभाव वाली और शरारती हैं। मंत्रालय ने बयान जारी कर मीडिया के एक वर्ग में आई उन खबरों का खंडन किया है। जिसमें आरोप लगाया गया है कि कोरोना वायरस की पहली दो लहरों में कोविड-19 के कारण भारत में मरने वाले लोगों की वास्तविक संख्या से ‘‘काफी कम करके बतायी गई’’ और वास्तविक मृतक संख्या ‘‘काफी अधिक’’ हो सकती है तथा यह संख्या 30 लाख से अधिक हो सकती है। 
कलाकुंभ के जरिए कलाकार देंगे गुमनाम नायकों को श्रद्धांजलि

आरजीआई में की जाती है निगरानी: मंत्रालय
मंत्रालय ने बयान में कहा, कि पूरी कवायद भारत के महापंजीयक (आरजीआई) की निगरानी में की जा रही है। इसके अलावा भारत सरकार के पास विश्वस्तर पर स्वीकार्य वर्गीकरण के आधार पर कोविड-19 से मौतों को वर्गीकृत करने की एक बहुत व्यापक परिभाषा है। होने वाली सभी मौतों की स्वतंत्र रूप से राज्यों द्वारा सूचना दी जा रही है और इसे केंद्रीय रूप से संकलित किया जा रहा है। राज्यों द्वारा अलग-अलग समय पर कोविड-19 मृत्यु से संबंधित, जो पीछे का आंकड़ा मुहैया कराया जाता है, उसका भी नियमित रूप से भारत सरकार के आंकड़ों में मिलान किया जा रहा है। बयान में कहा गया है कि बड़ी संख्या में राज्यों ने नियमित रूप से मृत्यु संबंधित अपनी संख्या का मिलान किया है और मृत्यु से संबंधित पीछे के आंकड़े पारदर्शी तरीके से सूचित किए हैं। इसलिए यह कहना कि मौतों की संख्या को कम करके बताया गया, बिना आधार और बिना औचित्य के हैं। मंत्रालय ने कहा कि भारत में कोविड से मौत की सूचना पर लोग मौद्रिक मुआवजे के हकदार होते हैं। इसलिए, मृत्यु संख्या को कम करके बताने की संभावना कम है।     
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.