ngt-no-to-reconsider-order-on-10-crores-penalty-on-haryana-gurgram-builders

बिल्डरों पर 10 करोड़ रु का जुर्माना लगाने पर पुनर्विचार नहीं करेगी #NGT

  • Updated on 7/16/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। राष्ट्रीय हरित अधिकरण (NGT) ने गुरुग्राम Gurgram के तीन बिल्डरों पर पर्यावरण नियम तोडऩे के मामले में अपने आदेश पर पुर्निवचार से मंगलवार को इनकार कर दिया। अधिकरण ने बिल्डरों पर 10 करोड़ रुपये का अंतरिम जुर्माना लगाया है। 

दिल्ली में कानून-व्यवस्था को लेकर अमित शाह से मिले AAP सांसद

एनजीटी NGT के अध्यक्ष न्यायमूर्ति आदर्श कुमार गोयल की अध्यक्षता वाली पीठ ने कहा कि अंसल बिल्डवेल लिमिटेड, आधारशिला टावर्स लिमिटेड और रिगोस एस्टेट नेटवर्क प्राइवेट लिमिटेड की ओर से दायर पुर्निवचार याचिका में कोई आधार नहीं है। 

बरखा दत्त ने कपिल सिब्बल की पत्नी के खिलाफ दर्ज कराई शिकायत

NGT पीठ ने कहा कि अधिकरण द्वारा गठित समिति के निष्कर्षों और सिफारिशों के आधार पर आदेश दिया गया था, जिसने पाया है पुर्निवचार याचिकाकर्ताओं ने विभिन्न विधानों का उल्लंघन किया है।  

ओम प्रकाश चौटाला को पोते की सगाई के लिए मिली हफ्ते भर की पैरोल

यह फैसला गुडग़ांव के सुशांत लोक 3 और 2 में रहने वाले राजेन्द्र कुमार गोयल, बाला यादव और अन्य लोगों की याचिका पर सुनाया गया ।याचिका में उन्होंने बिल्डरों के अधिकारियों के साथ मिलकर हरे-भरे इलाके, पार्क के लिये खुले क्षेत्र और सड़कों आदि के अतिक्रमण का आरोप लगाया था। 

तेंदुलकर ने बताया- कैसे होना चाहिए था विश्व कप फाइनल का फैसला?

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.