Monday, Sep 27, 2021
-->
nhrc notice to centre-4-states-over-farmers protest says industries people suffering kmbsnt

किसान आंदोलन से हो रहे नुकसान के चलते NHRC ने केंद्र समेत इन राज्यों को भेजा नोटिस

  • Updated on 9/14/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। किसानों के विरोध प्रदर्शनों के चलते आम जनता और ऑद्योगिक इकाइयों को हो रहे नुकासन को देखते हुए राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (NHRC) ने मंगलवार को केंद्र और दिल्ली, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, राजस्थान सरकारों को नोटिस जारी किया है।

नोटिस में कहा गया है कि किसानों के विरोध प्रदर्शनों ने उद्योगों को बुरी तरह प्रभावित किया है और यात्रियों पर प्रतिकूल प्रभाव डाला है। "औद्योगिक इकाइयों पर प्रतिकूल प्रभाव के आरोप हैं, 9000 से अधिक सूक्ष्म, मध्यम और बड़ी कंपनियों को गंभीर रूप से प्रभावित कर रहे हैं।

पेगासस केस : मोदी सरकार के अड़ियल रुख पर सुप्रीम कोर्ट ने भी अपनाए तल्ख तेवर

आंदोलन के कारण कई लोगों को हो रही दिक्कतें- NHRC
नोटिस में कहा गया है कि किसान आंदोलन के चलते सड़कों पर यात्रियों, रोगियों, शारीरिक रूप से विकलांग लोगों और वरिष्ठ नागरिकों को भारी भीड़ के कारण नुकसान उठाना पड़ता है। इसीमा पर लगाए गए किसानों के आंदोलन और बैरिकेड्स के कारण लोगों को अपने गंतव्य तक पहुंचने के लिए लंबी दूरी तय करनी पड़ती है।

कांग्रेस ने भी पूछा - मोदी सरकार बताए कि उसने पेगासस खरीदा या नहीं?

राज्यों की पुलिस से मांगी कार्रवाई की रिपोर्ट
नोटिस में कहा गया है कि आयोग को विभिन्न मानवाधिकारों के मुद्दों पर ध्यान देने की जरूरत है। आंदोलन में मानवाधिकारों का मुद्दा शामिल है, इसलिए शांतिपूर्ण तरीके से आंदोलन करने के अधिकार का भी सम्मान किया जाना चाहिए। नोटिस में संबंधित राज्य सरकारों के मुख्य सचिवों, पुलिस महानिदेशकों और पुलिस आयुक्त से की गई कार्रवाई की रिपोर्ट मांगी है।बता दें कि पिछले साल से किसान सरकार द्वारा लाए गए तीन नए कृष कानूनों का विरोध कर रहे हैं। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.