Tuesday, Jan 18, 2022
-->
nia active gujarat adani mundra port drugs case talc mixed drug seized after raid rkdsnt

मुंद्रा पोर्ट ड्रग्स मामले में एक्टिव हुई NIA,  छापेमारी के बाद टैल्क मिला हुआ ड्रग्स किया जब्त

  • Updated on 10/20/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) ने गुजरात के मुंद्रा बंदरगाह पर हाल में 2988 किलोग्राम हेरोइन की जब्ती से संबंधित अपनी जांच के सिलसिले में यहां बुधवार को एक गोदाम में छापेमारी कर नशीला पदार्थ जब्त किया। मुंद्रा बंदरगाह अदाणी ग्रुप के स्वामित्व में चल रहा है। समझा जाता है कि यह नशीला पदार्थ टैल्क में मिलाया हुआ था। जांच एजेंसी के अनुसार राष्ट्रीय राजधानी के नेबसराय इलाके में एक इमारत में छापेमारी की गई। एनआईए के प्रवक्ता ने बताया, ‘‘... एफएसएल (फॉरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला) की मदद से सफेद पाउडर वाली सामग्री को जब्त कर लिया गया है, जिसमें टैल्क के साथ नशीले पदार्थ मिले होने का संदेह है।’’ 

अखिलेश यादव से मिले ओम प्रकाश राजभर, बोले- अबकी बार, भाजपा साफ!

एजेंसी इससे पहले भी मुंद्रा हेरोइन जब्ती मामले में दो बार इसी तरह की तलाशी ले चुकी है। एनआईए ने इस महीने की शुरुआत में केंद्रीय गृह मंत्रालय के निर्देश पर राजस्व खुफिया निदेशालय (डीआरआई) से मामला अपने हाथ में लिया और मादक पदार्थ एवं नशीली सामग्री अधिनियम (एनडीपीएस) तथा गैरकानूनी गतिविधि रोकथाम अधिनियम (यूएपीए) की धाराओं के तहत एक आपराधिक शिकायत दर्ज की। 

रिकॉर्ड ऊंचाई पर पेट्रोल, डीजल की कीमतें, महंगाई से जनता त्रस्त

एनआईए के एक अधिकारी ने बताया कि यह मामला मुंद्रा बंदरगाह पर 2988.21 किलोग्राम मादक पदार्थ हेरोइन की जब्ती और खेप की खरीद और सप्लाई में विदेशी नागरिकों की संलिप्तता से संबंधित है। 13 सितंबर को डीआरआई ने दो कंटेनरों को कब्जे में लिया जो ईरान के बंदर अब्बास बंदरगाह के माध्यम से अफगानिस्तान के कंधार से होते हुए मुंद्रा बंदरगाह पहुंचे थे। कंटेनरों के साथ की गई घोषणा में दावा किया गया था कि उनके पास ‘‘अर्ध संसाधित टैल्क पत्थर’’ हैं। 

आगरा में पुलिस हिरासत मौत : पीड़ित परिवार को योगी सरकार ने दिया मुआवजा, नौकरी का वादा 

एक आधिकारिक विज्ञप्ति में कहा गया, हालांकि गहन जांच से पता चला कि दोनों कंटेनरों में वास्तव में 2988 किलोग्राम हेरोइन थी, जिसकी कीमत 21,000 करोड़ रुपये थी और उसे टैल्क पत्थरों के साथ ‘‘बड़े-बड़े बैग’’ में ‘‘निचली परतों’’ में छुपाया गया था। डीआरआई ने नशीली दवाओं की जब्ती के सिलसिले में पांच विदेशी नागरिकों सहित आठ लोगों को गिरफ्तार किया था। इसके बाद एनआईए ने चेन्नई, कोयंबटूर और विजयवाड़ा में आरोपियों के परिसरों की तलाशी ली थी। 

लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में धीमी जांच को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई फटकार

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.