Tuesday, Dec 07, 2021
-->
Nihang Baba photo with BJP Modi Minister Tomar goes viral Congress and SKM questions rkdsnt

मंत्री तोमर के साथ निहंग बाबा की फोटो वायरल, कांग्रेस और SKM ने उठाए सवाल

  • Updated on 10/19/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। सोनीपत के कुंडली बॉर्डर पर दलित युवक की हत्या के बाद निहंग बाबा अमनदीप सिंह और उनके आरोपी साथी चर्चा में आ गए हैं। सोशल मीडिया पर निहंग बाबा अमनदीप की केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर के साथ फोटो वायरल हो रही है। इसको लेकर किसान संगठन से लेकर विपक्ष ने भी सवाल उठाने शुरु कर दिए हैं। 

पंजाब चुनाव : अमरिंदर सिंह का अपनी पार्टी बनाने का ऐलान, कांग्रेस की बढ़ेंगी मुश्किलें


गौरतलब है कि निहंग बाबा अमनदीप के नेतृत्व वाले गुट ने एक युवक की हाथ-पैर काटकर हत्या कर दी थी। युवक पर गुरुग्रंथ की बेअदबी का आरोप लगाया गया था। इस मामले में पुलिस चार निहगों को गिरफ्तार कर चुकी हैं, अपना गुनाह कबूल कर चुके हैं और उन्हें इस पर कोई अफसोस नहीं हैं। इस हत्याकांड के बाद किसान आंदोलन और किसान नेता निशाने पर आए गए थे। 

कश्मीर में नागरिकों की हत्या के मद्देनजर भारत-पाक मैच रद्द हो : AAP 

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने अपने ट्वीट में लिखा है, 'सच सामने आ ही रहा है। परतें उठ रही हैं, पर्दा खुल रहा है। कौन असल में पर्दे के पीछे किसके साथ खड़ा है? कौन किसानों के खिलाफ़ क्या षड्यंत्र कर रहा है? 

सरकार के निर्देश पर रेलवे बोर्ड ने भारतीय रेलवे स्टेशन विकास निगम को किया बंद

संयुक्त किसान मोर्चा ने अपने ट्वीट में लिखा है, 'सिंघु बॉर्डर केस में नए तथ्यों के सामने आने से यह लग रहा है कि सरकार की बड़ी साजिश थी। साजिश इसलिए कि हमारा तीन कानून और MSP से ध्यान हटाया जाए। पर हम अपनी मांगों पर कायम है। कृषि कानून रदद् हो, MSP कानून बने।'

 महिलाओं को 40 फीसदी टिकट देने के ऐलान से बसपा में खलबली, मायावती ने साधा कांग्रेस पर निशाना  

बता दें कि द ट्रिब्यून अखबार ने निहंग बाबा अमनदीप और नरेंद्र तोमर से मुलाकात को लेकर खबर लिखी है। हालांकि मंत्री तोमर ने जुलाई की आखिर में नई दिल्ली में इस मुलाकात का खंडन किया है। वहीं अमनदीप सिंह ने कहा है कि वह हर रोज नेताओं से मुलाकात करते रहते हैं। गौरतलब है कि फोटो में तोमर अमनदीप को सम्मानित करते नजर आ रहे हैं। 

किसान आंदोलन को लेकर राज्यपाल मलिक ने चेतावनी के साथ मोदी सरकार को सुनाई खरी-खरी

comments

.
.
.
.
.