Friday, Feb 28, 2020
nirbhaya case hearing on vinay''''''''s plea today nirbhaya pawan gupta

निर्भया मामला: विनय की याचिका खारिज, पीड़िता की मां ने कहा- फिर उम्मीद के साथ आऊंगी

  • Updated on 2/14/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। निर्भया मामले (Nirbhaya Case) में आज सुप्रीम कोर्ट (Suprime court) ने राष्ट्रपति कोविंद द्वारा दया याचिका की अस्वीकृति को चुनौती देने वाले मौत के दोषी विनय कुमार शर्मा की याचिका को खारिज कर दिया है। कोर्ट ने अपने आदेश में यह भी कहा कि मेडिकल रिपोर्ट में कहा गया है कि विनय मनोवैज्ञानिक रूप से फिट है और उसकी मेडिकल स्थिति स्थिर है। 

निर्भया केस: केंद्र की अर्जी खारिज, आरोपियों की नहीं होगी अलग- अलग फांसी

पवन गुप्ता के पास अभी भी है विकल्प
बता दें कि पवन गुप्ता इकलौता दोषी है, जिसने अभी तक सुधारात्मक याचिका नहीं दी है। उसने अभी दया याचिका भी नहीं दायर की है। केंद्र ने अपनी अर्जी में कहा है कि सिर्फ पवन के पास कानूनी विकल्प बचा है, लेकिन इस वजह से बाकी दोषियों की भी फांसी नहीं हो पा रही है।

निर्भया केस : दोषी पवन की याचिका खारिज, SC ने नाबालिग मानने से किया इनकार

विनय की याचिका
वहीं बिते दिन निर्भया गैंगरेप (Nirbhaya case) और हत्या मामले के दोषी विनय शर्मा (Vinay Sharma) की दया याचिका खारिज करने की सिफारिश पर विचार करने का अनुरोध सुप्रीम कोर्ट (Suprime Court) ने  ठुकरा दिया। विनय शर्मा के वकील ने अदालत में आरोप लगाया था कि दिल्ली के उपराज्यपाल और गृह मंत्री ने दया याचिका खारिज करने के सुझाव पर हस्ताक्षर नहीं किए थे।

निर्भया केस: मुकेश की याचिका पर दलील से भड़की निर्भया की मां, कहा- राष्ट्रपति की गरिमा का रखें ध्यान

जल्दबाजी में लिया गया फैसला
न्यायमूर्ति आर. भानुमति, न्यायमूर्ति अशोक भूषण और न्यायमूर्ति ए. एस. बोपन्ना की पीठ ने रिकॉर्ड पर गौर करते हुए कहा कि दोषी विनय शर्मा की दया याचिका ठुकराने की सिफारिश पर उप राज्यपाल और दिल्ली के गृह मंत्री ने भी हस्ताक्षर किए हैं।

शर्मा के वकील ए. पी. सिंह ने राष्ट्रपति के दया याचिका खारिज करने के फैसले के खिलाफ मंगलवार को न्यायालय में याचिका दायर की थी। उन्होंने दावा किया था कि फैसला ‘जल्दबाजी’ में और ‘पूर्वाग्रहों’ के आधार पर और संविधान की भावना का उल्लंघन करते हुए लिया गया।  

निर्भया मामले में बोले मुख्तार अब्बास नकवी, जल्द ही दोषियों को मिलेगी फांसी

निर्भया की मां का विरोध प्रदर्शन
बता दें कि कल निर्भया (Nirbhaya) की मां आशा देवी (Asha devi) ने अपनी बेटी से बलात्कार और उसकी हत्या के चारों दोषियों को फांसी देने में हो रही देरी को लेकर अदालत के बाहर विरोध प्रदर्शन किया। 

आशा देवी ने आरोप लगाते हुए कहा कि न्यायाधीश दोषियों को फांसी देने की तारीख तय नहीं करना चाहती और उन्हें समर्थन दे रही है। उन्होंने कहा, 'मैं सुप्रीम कोर्ट से डेथ वारंट जारी करने की अपील करती हूं क्योंकि पटियाला हाउस कोर्ट नए सिरे से डेथ वारंट जारी करने के मूड में नहीं है। कल आशा अगली तारीख फिर उम्मीद के साथ आऊंगी, मुझे कोर्ट पर भरोसा है। मगर जब डेथ वारंट जारी नहीं हुआ तो मैं अगली तारीख पर इसी उम्मीद और भरोसे के साथ फिर आऊंगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.