Monday, Dec 06, 2021
-->
Nirbhaya rape case hyderabad rape case Swati Maliwal arvind kejriwal

निर्भया की मां ने स्वाति मालिवाल से की मुलाकात, की अनशन तोड़ने की अपील

  • Updated on 12/13/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। स्वाति मालीवाल (Swati Maliwal) का अनशन अपने ग्यारहवे दिन भी जारी रहा। भारी बारिश और टेंट में रिसाव के चलते अनशन स्थल पर काफी ज्यादा पानी भर गया, इसके अलावा और भी कई कठिनाइयों के बाद किसी तरह व्यवस्था की गयी लेकिन फिर भी उनको काफी संघर्ष करना पड़ रहा है। बता दें फिल्हाल दिन प्रतिदिन स्वाति की हालत बिगड़ती जा रही है और डॉक्टर से अनुसार उनकी हालत आगे और गंभीर होने की संभावना बनी हुई है। स्वाति का ब्लड प्रेशर आज 90/70 था जो कि सामान्य से काफी कम है। साथ ही शुगर लेवल भी बहुत कम है। 11 दिन के अनशन के बाद वो बहुत कमजोर हो चुकी हैं और ज्यादा हिल नहीं पा रही हैं और कमजोरी के चलते बात करने में भी उन्हें परेशानी हो रही है। 

मध्यप्रदेश के सीएम कमलनाथ ने कहा- राज्य में नहीं लागू होगा नागरिकता कानून

कोर्ट से मिली निराशा 
कोर्ट द्वारा निराशा प्राप्त कर वापिस लौटे निर्भया के माता-पिता सीधा स्वाति के अनशन (protest) स्थल पहुंचे और भावुक होकर स्वाति को उनका अनशन खत्म करने की अपील की। उन्होंने स्वाति से कहा कि आज आप 11 दिन से अनशन कर रही हो लेकिन बड़ा दुर्भाग्यपूर्ण है कि अभी तक सरकार की तरफ से कोई आपसे मिलने तक नहीं आया। स्वाति की हालत देख निर्भया की की मां भावुक हो गई और उन्हें गले मिलकर बोली कि हम इस देश में निर्भयाओं को तो नहीं बचा पा रहे लेकिन जो उन निर्भयाओं के लिए जंग लड़ रही है उन्हें बचाने का फर्ज हमारा बनता है। इस देश का सिस्टम इस प्रकार खराब हो गया है कि हमारी ही बेटियों के साथ बलात्कार (rape) होता है और हमारी ही एक बेटी को उस सिस्टम के खिलाफ लड़ने के लिए अपनी जान दांव पर लगानी पड़ती है। उन्होंने यह भी कहा की स्वाति जैसी महिलाएं इस देश में बहुत कम है और यह देश उन्हें खो नहीं सकता। 
जापान के पीएम का भारत दौरा टला, गुवाहटी में होना था समिट

निर्भया के माता पिता ने दिया अपना समर्थन
निर्भया की मां ने एक चिट्ठी लिखकर केंद्र सरकार को स्वाति की मांगों को मानने की अपील की और यह भी कहा की स्वाति देश के लाखों महिलाओं की जंग लड़ रही है और उन्हें बड़ा दुख है कि सरकार की तरफ से उनकी सुध लेने कोई नहीं आ रहा। उन्होंने केंद्र (centre) से यह भी अपील की है कि जल्द से जल्द उनका अनशन खत्म करवाएं। उन्होंने स्वाति को अपना समर्थन देते हुए यह भी कहा कि वह स्वाति की मांगों के लिए लड़ाई लड़ने उनके लिए हमेशा साथ रहेंगे लेकिन इसके लिए उन्हें अपना अनशन खत्म करना होगा।
'रेप इन इंडिया' बयान पर संसद में हंगामा- राहुल गांधी का माफी मांगने से इनकार

नहीं चाहते हैं कोई और बने निर्भया
निर्भया के माता-पिता से बात करते हुए स्वाति भी भावुक हो गई और उनकी आंखों से आंसू छलक गए। उन्होंने कहा कि उन्हें लड़ाई लड़ने की हिम्मत उन्हीं से मिली है और जिस प्रकार उन्होंने 7 साल तक एक लंबी लड़ाई लड़ी है, वो नहीं चाहती कि देश मे किसी और महिला और उसके परिवार को न्याय के लिए जूझना पड़े। उन्होंने बड़ी विनम्रता से निर्भया के माता-पिता को उनके समर्थन के लिए धन्यवाद किया लेकिन यह भी कहा कि जब तक उन सरकार उनकी मांगों पर विचार नहीं करती वह अपना अनशन नहीं तोड़ने वाली। इसके अलावा आज भी दिल्ली के तमाम जगहों पर स्वाति के समर्थन में कैंडल मार्च (candle march) निकाला गया तो वहीं युवाओं ने कनॉट प्लेस में मानव श्रंख्ला बनाकर स्वाति को अपना समर्थन दिया।

comments

.
.
.
.
.