Friday, May 07, 2021
-->
niti aayog rajiv kumar expressed surprise stock markets reaction on budget 2020

बजट 2020 पर शेयर बाजारों में भूचाल से नीति आयोग हैरान-परेशान

  • Updated on 2/2/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। नीति आयोग (NITI Aayog) के उपाध्यक्ष राजीव कुमार (Rajiv Kumar) ने शनिवार को बजट प्रस्तावों पर शेयर बाजारों की प्रतिक्रिया पर हैरानी जताई। कुमार ने रविवार को पीटीआई भाषा से बातचीत में कहा कि संभवत: निवेशक कुछ जोरदार सुधार की उम्मीद लगाए बैठे थे और उन्होंने बजट में निवेश एवं वृद्धि की दिशा में उठाए गए कदमों पर ध्यान नहीं दिया। 

सोनिया गांधी अस्पताल में भर्ती, देखभाल के लिए राहुल-प्रियंका मौजूद

बजट में कुछ भी गड़बड़ नहीं

कुमार ने कहा, ‘‘बजट में कुछ भी गड़बड़ नहीं है।इसमें सभी को संतुष्ट करने का प्रयास किया गया है।’’ बजट के बाद बंबई शेय बाजार का सेंसेक्स 988 अंक टूट गया। इससे बाजार भाव में गिरावट के हिसाब से निवेशकों की हैसियत करीब 3.46 लाख करोड़ रुपये घट गयी। कुमार ने कहा, ‘‘वास्तव में मैं बाजार की प्रतिक्रिया से काफी हैरान हूं। मैं यह समझने का प्रयास कर रहा हूं कि ऐसा क्यों हुआ।’’ 

विश्व हिंदू महासभा के अध्यक्ष की गोली मारकर हत्या, यूपी पुलिस की जांच शुरू

कुमार ने कहा कि बजट ने कुछ गलत नहीं किया। ‘‘इसमें न तो निजी निवेश के खिलाफ कुछ है और न ही निजी क्षेत्र के खिलाफ और न ही आर्थिक वृद्धि के खिलाफ कुछ है। बजट में सभी को संतुष्ट करने का प्रयास किया गया है। यह पूछे जाने पर कि क्या 2024-25 तक 5,000 अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था के लक्ष्य को अब भी हासिल करना संभव है, कुमार ने कहा कि यह अवास्तविक लक्ष्य नहीं है और इसे हासिल किया जाएगा।  

बजट में ‘रोजगार सृजन योजनाओं’ के लिए आवंटन 42 फीसदी घटा, विपक्ष गर्म

बजट एक प्रेरित करने वाला लक्ष्य

उन्होंने कहा, ‘‘अगले पांच साल में यदि रुपया अत्यधिक नहीं गिरता है, तो यह मानने का कोई कारण नहीं है कि आप इसे हासिल नहीं कर सकते। यदि आप 2020-21 में 6 से 6.5 प्रतिशत की वृद्धि दर हासिल करते हैं तो शेष चार साल में आप 7-8 प्रतिशत की वृद्धि दर हासिल कर इस लक्ष्य को पा सकते हैं।’’ 

कांग्रेस बोलीं- ‘दो राष्ट्र के सिद्धांत वाली’ BJP ने करदाताओं का भी किया विभाजन

नीति आयोग के उपाध्यक्ष ने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री कह चुके हैं कि यह एक प्रेरित करने वाला लक्ष्य है जो लोगों को साथ ला रहा है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि हमें इस पर टिके रहना चाहिए। किसी तरह के संशोधन से लोग हतोत्साहित होंगे और वे आगे नहीं बढ़ेंगे।’’  

जामिया के बाद अब शाहीन बाग में गोलीकांड, केजरीवाल के निशाने पर अमित शाह

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.