Monday, Jan 21, 2019

काम की खबर: UPSC परीक्षा में बदलाव का नीति आयोग ने दिया प्रस्ताव, कम होने वाली है आयु सीमा

  • Updated on 12/20/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल।  नीति आयोग ने सिविल सर्विसेज में बदलाव का प्रस्ताव रखा है कि सिविल सर्विसेज के अभ्यर्थियों के लिए अधिकतम आयु सीमा कम की जानी चाहिए। आयोग का कहना है कि परीक्षा देने के लिए सामान्य वर्ग के अभ्यार्थियों के लिए आयु सीमा 30 साल है। इसे घाटकर 27 साल किया जाना चाहिए। 

आयोग ने साथ ही ये भी कहा कि यह साल 2022-23 तक लागू की जानी चाहिए। आयोग ने कहा कि सिविल सर्विसेज के लिए बस एक ही परीक्षा का आयोजन किया जाना चाहिए। आयोग ने रिपोर्ट पेश की है जिसका नाम 'स्ट्रेटेजी फॉर न्यू इंडिया @75' की इस रिपोर्ट में ये सुझाव दिया गया कि नौकरशाही में उच्च स्तर पर विशेषज्ञ की लेटरल एंट्री को बढ़ावा दिया जाना चाहिए।

1984 सिख विरोधी दंगे: सज्जन कुमार ने आत्मसमर्पण के लिए मांगा 31 जनवरी तक का समय

इससे ये फायदा होगा कि हर क्षेत्र में ज्यादा से ज्यादा विशेषज्ञों की सेवाएं मिल पाएंगी। दरअसल भारत की एक तिहाई से अधिक जनसंख्या की उम्र इस वक्त 35 साल से कम है। वहीं सिविल सर्विसेज में सिलेक्ट होने वाले अभ्यर्थियों की औसत आयु साढ़े 25 साल है।

कांग्रेस सांसद रंजीत रंजन बोलीं- पासवान समझ चुके हैं मौसम का मिजाज, कांग्रेस में है स्वागत

रिपोर्ट के अनुसार इन सुझावों का उद्देश्य है कि अधिकारियों ने उनकी शिक्षा और स्किल के आधार पर विशेषज्ञ बनाया जाए। जहां भी आवश्यक हो अधिकारियों की निपुणता के आधार पर लंबे समय के लिए उनकी पोस्टिंग की जाए। साथ ही ये भी कहा गया है कि अधिकारियों को अलग-अलग क्षेत्रों में काम करने का मौका मिले ताकि आवश्यकता पड़ने पर उन्हें किसी भी जरूरी काम में लगाया जा सके।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.