Thursday, Oct 28, 2021
-->
nitin gadkari expresses displeasure over delay in nhai projects sohsnt

NHAI प्रोजेक्ट्स में देरी पर भड़के नितिन गडकरी, कहा- नाकाबिल अफसरों को बर्खास्त करना जरूरी

  • Updated on 10/29/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। केंद्रीय सड़क परिवहन एव राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने बीते बुधवार को एक वर्चुअल कार्यक्रम के दौरान भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (NHAI) की सुस्त कार्यप्रणाली को लेकर नाराजगी जताते हुए अफसरों को जमकर फटकार लगाई, जिसके बाद से उनका ये वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है।

जम्मू कश्मीर कांग्रेस ने नए भूमि कानूनों का विरोध किया, PDP ने प्रदर्शन किया 

गडकरी ने एनएचएआई के अफसरों को लगाई फटकार
दरअसल, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी एनएचएआई भवन के उद्घाटन के अवसर पर सभा को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने एनएचएआई भवन का निर्माण कार्य समय से पूरा न होने पर अफसरों को जमकर लताड़ लगाई। उनकी नाराजगी का कारण था कि एनएचएआई भवन के निर्माण कार्य को पूरा होने में लगभग नौ साल का समय बीत गया, तब कहीं जाकर ये प्रोजेक्ट पूरा हुआ है। केंद्रीय मंत्री के मुताबिक 250 करोड़ का यह प्रोजेक्ट 2008 में तय किया गया था।

बिहार चुनावः महागठबंधन और एनडीए ने किया परचम लहराने का दावा, नीतीश पर टिकी सबकी नजर 

प्रोजेक्ट पूरा करने में लगा 9 साल का समय
उन्होंने उद्घाटन के दौरान अफसरों पर नाराजगी जताते हुए कहा कि 'इस प्रोजेक्ट को पूरा करने के लिए दो सरकारें और आठ चेयरमैन लगे। इसके साथ ही उन्होंने मौजूदा चेयरमैन और मेंबर को इस प्रोजेक्ट से अलग करते हुए कहा कि जिन महान हस्तियों ने 2011 से 2020 तक इस पर काम किया है, अगर संभव हो तो उनकी एक तस्वीर इस ऑफिस में जरूर लगा दी जाए, ताकि पता चल सके यही वो अधिकारी हैं जिन्होंने इसे पूरा करने में 9 साल का समय लगा दिया। 

सीएम रावत पर हाई कोर्ट के आदेश के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट जाएगी भाजपा

प्रोजेक्ट अभिनंदन करने के योग्य नहीं- गड़करी
नितिन गड़करी ने कहा कि एक प्रोजेक्ट तैयार करने में इतना समय लगता देख शर्म आती है। इसके साथ ही उन्होंने दिल्ली-मुंबई हाईवे का जिक्र करते हुए कहा कि 'हम गौरव के साथ कहते हैं कि ये हाईवे 3 साल में बनकर तैयार हो जाएगा, उन्होंने कहा, लगभग 1 लाख करोड़ का ये काम अगर 3 साल या उससे कुछ अधिक समय में पूरा होता है, वहीं दूसरी ओर हमने 200 करोड़ के काम में 10 साल लगा दिए तो कहीं से भी ये अभिनंदन करने के योग्य नहीं मालूम होता।  

Bihar: Corona के साये के बीच पहले चरण में 54 फीसदी मतदान, दिखा उत्साह

‘अक्षम' अधिकारियों को बाहर का रास्ता दिखाने का समय
गडकरी ने कहा, 'राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के ऐसे अकर्मण्य और ‘अक्षम' अधिकारियों को बाहर का रास्ता दिखाने का समय है।' उन्होंने कहा कि ऐसे लोग जो प्रोजेक्ट समय से पूरा नहीं होने देते हैं, उसमें अड़चनें पैदा कर रहे हैं। ऐसे अधिकारियों को ‘निलंबित' और बर्खास्त किया जाना चाहिए और इसकी कार्यप्रणाली में अधिक सुधार लाए जाने की जरूरत है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.