Sunday, Sep 26, 2021
-->
nitish kumar becomes cm on jdu-bjp-vip request, govt complete term sushil modi pragnt

नीतीश कुमार के बचाव में उतरे सुशील मोदी, कहा- बिहार में BJP-JDU गठबंधन अटूट

  • Updated on 12/28/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। अरुणाचल प्रदेश (Arunachal Pradesh) में जनता दल यूनाइटेड (JDU) के 6 विधायकों के बीजेपी (BJP) में शामिल होने पर बिहार (Bihar) के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) काफी नाराज हैं। बीजेपी से नीतीश की नाराजगी इस कदर फूटी कि उन्होंने यह तक कह दिया कि उन्हें मुख्यमंत्री बनने की कोई भी लालसा नहीं थी, उन पर दबाव डाला गया था तब जाकर उन्होंने मुख्यमंत्री पद का पदभार ग्रहण किया। 

बिहार में लव-जिहाद कानून चाहती है बीजेपी, जदयू ने किया विरोध, क्या BJP को हो सकता है नुकसान?

भाजपा-जदयू का गठबंधन अटूट- सुशील मोदी
नीतीश के इस बयान पर अब बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री व वर्तमान राज्यसभा सांसद सुशील मोदी ने प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि जद (यू) के लोगों ने कहा है कि अरुणाचल में जो कुछ भी हुआ है उसका असर बिहार और बिहार सरकार के गठबंधन पर नहीं होगा। बिहार के अंदर भाजपा-जदयू का गठबंधन अटूट है। नीतीश जी के नेतृत्व में पूरे पांच साल तक काम करेगी सरकार।

जदयू में बड़ा फेरबदल,नीतीश ने आरसीपी सिंह को बनाया पार्टी का नया अध्यक्ष

सभी सहयोगी दलों ने किया अनुरोध
नीतीश कुमार के सीएम बनने पर बीजेपी सांसद ने कहा, '17वीं विधानसभा के चुनाव परिणाम आने के बाद वह (नीतीश कुमार) मुख्यमंत्री नहीं बनना चाहते थे। लेकिन भाजपा और जदयू नेताओं ने उन्हें बताया कि हमने उनके (नीतीश कुमार के) नाम और विजन पर चुनाव लड़ा और कहा कि लोगों ने उन्हें वोट दिया था। अंत में उन्होंने जदयू, भाजपा और वीआईपी के नेताओं के अनुरोध पर सीएम बनना स्वीकार किया।

अरुणाचल प्रदेश :JDU में भाजपा की सेंध से नीतीश कुमार हैरान-परेशान

'बीजेपी का ही सीएम हो'- नीतीश
दरअसल, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जदयू के राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के दौरान एक बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि बिहार चुनाव परिणाम के बाद वो सीएम पद पर नहीं रहना चाहते थे। बीजेपी के दबाव के कारण उन्हें सूबे का मुख्यमंत्री बनना पड़ा। उन्होंने कहा, 'मेरी मुख्यमंत्री बनने की कोई इच्छा नहीं थी। मैंने कहा था कि जनता ने अपना जनादेश दिया है और किसी को भी मुख्यमंत्री बनाया जा सकता है, भाजपा अपना मुख्यमंत्री बना सकती है।' नीतीश कुमार के इस बयान ने बिहार की राजनीति में हलचल मचा दी है।

अरुणाचल प्रदेश में जदयू को झटका, BJP में शामिल हुए पार्टी के 6 एमएलए

आरसीपी सिंह बने अध्यक्ष
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के करीबी विश्वासपात्र आरसीपी सिंह को रविवार को जनता दल (यूनाइटेड) का नया अध्यक्ष चुन लिया गया। एक वरिष्ठ नेता ने बताया कि नीतीश कुमार ने पार्टी के शीर्ष पद के लिए सिंह के नाम का प्रस्ताव रखा, जिसका पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के दौरान अन्य सदस्यों ने अनुमोदन किया।

बिहार में मध्यावधि चुनाव होने की तेजस्वी ने की भविष्यवाणी, कार्यकर्ताओं से तैयारी को कहा

आरसीपी सिंह के लिए छोड़ा पद
2019 में तीन वर्ष के लिए जदयू के फिर से अध्यक्ष चुने गए मुख्यमंत्री कुमार ने राज्यसभा में अपने नेता सिंह के लिए अपना पद त्याग दिया। नौकरशाह से राजनेता बने सिंह अब तक क्षेत्रीय पार्टी के महासचिव थे। अरुणाचल प्रदेश में जदयू के सात में से छह विधायकों के भाजपा में चले जाने के बाद देश की राजनीतिक स्थिति से जुड़े मुद्दों पर विचार-विमर्श करने के लिए पार्टी अपनी राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक आयोजित कर रही है।

ये भी पढ़ें...

 

comments

.
.
.
.
.