Wednesday, Jun 26, 2019

अवैध शराब पर नीतीश सख्त, कहा शराब बिक्री जारी पर नपेंगे थाना

  • Updated on 6/13/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। शराबबंदी पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने के बाद बिहार(bihar) के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार(nitish kumar) ने एक अहम फैसला लेते हुए कहा है कि थाना क्षेत्र को लिखित में देना होगा कि उनके थाना-क्षेत्र में शराब की अवेध बिक्री नहीं हो रही है। उन्होंने शराब के लगातार चोरी छिपे बिक्री पर शिकायत मिलने पर यह निर्णय लिया है। 

गोपाल राय के सामने ही आपस में भिड़े AAP कार्यकर्ता, जमकर हुई हाथापाई

लिखित में दें थाना आश्वासन 
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने थाना को सख्त निर्देश दिया है कि लिख कर दें कि उनके थाना के अंतर्गत शराब की बिक्री नहीं हो रही है। अगर लिखित में देने के बाद भी इस तरह की शिकायत आती है तो उस थाना के पुलिस को 10 साल के लिए हटा दिया जाएगा। यानी थाना के अलावा कहीं ओर पोस्टिंग की जाएगी। 
 
अवैध शराब से जुड़े लोगों की हो जांच 
मुख्यमंत्री ने कहा कि जहां तक उन्हें जानकारी आयी है उसके अनुसार राज्य में अभी भी शराबबंदी पर पूर्ण प्रतिबंध नहीं लग सका है। तो इसके लिए दोषी वहां के थाना है। जिनकी लापरवाही से यह हो रहा है। उन्होंने कहा कि आप क्षेत्र के मालिक है विश्लेषण कीजिए। आपके क्षेत्र में धंधा चल रहा है तो इसका विश्लेषण कीजिए करके शराब से जुड़े लोगों की जांच कीजिए। ऐसे लोगों पर पर सख्ती की आवश्यकता है।  

 बीजेपी में शामिल हुए AAP के एल्डरमैन बने नरेला के डिप्टी चेयरमैन

चलाए जागरुक अभियान
मुख्यमंत्री नीतीश ने कहा कि जागरुकता अभियान चलाकर शराबबंदी को सही तरीके से लागू किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि शराबबंदी से सबसे ज्यादा फायदा महिला और बच्चों के जीवन पर पड़ा है। हम शराबबंदी से पीछे नहीं हट सकते है।  

इस महत्वपूर्ण बैठक में मद्य निषेध एवं निबंधन मंत्री बिजेन्द्र यादव, मुख्य सचिव दीपक कुमार, अपर मुख्य सचिव गृह आमिर सुबहानी, डीजीपी गुप्तेश्वर पाण्डेय, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव चंचल कुमार उपस्थित थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.