Sunday, Oct 02, 2022
-->
no harassment in the name of covid protocol yogi adityanath wedding ceremony pragnt

UP: CM योगी ने लगाई प्रशासन की फटकार, कहा- अब शादी के लिए पुलिस इजाजत की जरूरत नहीं

  • Updated on 11/26/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। कोरोना के कहर को देखते हुए उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने पुलिस एवं प्रशासन को कहा कि कोरोना वायरस प्रोटोकॉल में किसी भी तरह की लापरवाही न बरती जाए।  इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि प्रोटोकॉल के नाम पर किसी भी तरह के उत्पीड़न के खिलाफ कड़ी चेतावनी दी और कहा कि ऐसा होने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

योगी सरकार की कैबिनेट ने 'लव जिहाद' के खिलाफ अध्यादेश किया पास, मिलेगी कड़ी सजा

शादी  के लिए पुलिस इजाजत की जरूरत नहीं
राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने गुरुवार को बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि कोविड-19 प्रोटोकॉल के नाम पर पुलिस प्रशासन द्वारा उत्पीड़न कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि वह कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करने के लिए लोगों को जागरुक और प्रेरित करें। प्रवक्ता के मुताबिक मुख्यमंत्री ने यह भी साफ किया है कि शादी समारोहों के आयोजन के लिए पुलिस या प्रशासन से किसी भी तरह की इजाजत लेने की जरूरत नहीं है।

कोरोना को लेकर गाजियाबाद अलर्ट, ड्रोन से होगी निगरानी, मास्‍क न पहनने पर होगा जुर्माना

दी ये चेतावनी
मुख्यमंत्री ने शादियों में डीजे तथा बैंड के इस्तेमाल पर रोक लगाने और दुर्व्यवहार करने वाले अधिकारियों और पुलिसकर्मियों के खिलाफ भी सख्त कार्रवाई करने की चेतावनी दी है।वहीं सीएम की इस चेतावनी से पहले प्रदेश में कई जगहों पर शादी समारोह में पुलिस और अधिकारियों के उत्पीड़न की खबर सामने आई है। ताजा मामला मेरठ की एक शादी का है जहां पर कोरोना वायरस के दौरान शादी के लिए जारी की गई गाइडलाइंस का पालन नहीं किया जा रहा था। जिसके कारण दूल्हे और दुल्हन के पिता और बैंक्विट हॉल के मालिक पर मुकदमा दर्ज किया गया है।

क्या है पूरा मामला
सब इंस्पेक्टर मनोज कुमार का कहना है कि मंगलवार को रात वह गश्त पर थे। इस दौरान वो एक जगह से गुजरे जहां पर शादी हो रही थी। इस दौरान उन्होंने देखा कि वहां  पर कोरोना वायरस की गाइडलाइंस का पालन नहीं किया जा रहा है। उस शादी में करीब 350 लोग थे जबकि प्रदेश में मात्र 100 लोगों की ही अनुमति दी गई है। इतना ही नहीं वहां पर ज्यादातर लोगों ने मास्क नहीं लगा रखा था और सामाजिक दूरी का पालन नहीं हो रहा था। 

दर्ज किया मुकदमा
पुलिस का कहना है कि उन्होंने बैजल भवन के मालिक हेमंत बैजल, दूल्हे के पिता राजू चौहान निवासी ग्रास मंडी सदर बाजार, दुल्हन के पिता वीर सिंह निवासी कसेरुखेड़ा के खिलाफ महामारी अधिनियम के तहत केस दर्ज कर लिया। 

पहले दिए गए थे ये निर्देश
 गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश सरकार ने सोमवार को जारी  दिशानिर्देशों में हॉल या ऐसे ही बंद स्थानों पर शादी तथा अन्य सामाजिक समारोहों में 100 से ज्यादा लोगों की शिरकत पर पाबंदी लगा दी थी। इसके अलावा खुले में ऐसे कार्यक्रमों के आयोजन की स्थिति में उस जगह के 40% हिस्से तक का ही इस्तेमाल किए जाने के निर्देश दिए गए थे। इन कार्यक्रमों में कोविड-19 प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन करने की भी हिदायत दी गई है।

यहां पढ़े कोरोना से जुड़ी बड़ी खबरें...

 

comments

.
.
.
.
.