Tuesday, Oct 26, 2021
-->
no-one-could-move-legs-angad-was-heavy-on-everyone

कोई नहीं हिला पाया पैर, सब पर भारी पडे अंगद

  • Updated on 10/12/2021

नई दिल्ली। टीम डिजिटल। रावण की सेना के बड़े-बड़े वीर भी अंगद का पैर नहीं हिला पाए। सभी पसीने से लथ-पथ हो गए। वहीं इस दृश्य के मंचन के दौरान विशेष कलर एलईडी लाईटों के जलने से काफी आकर्षक बने दृश्य का दर्शकों ने जमकर आनंद लिया। वहीं हनुमान जी द्वारा उड़कर जाना और संजीवनी बूटी लाने के दृश्य ने दर्शकों को रोमांचित कर दिया। 
राम ने खाए शबरी के बेर, लंका का हुआ दहन

अंतिम चार दिन पहुंचेंगे 10 देशों के राजदूत
लवकुश रामलीला कमेटी के अध्यक्ष अशोक अग्रवाल ने कहा कि इस बार सीमित दर्शकों के बीच लीला का मंचन हो रहा है बावजूद हम हाईटेक तकनीक का प्रयोग मंचन के दौरान कर रहे हैं। मंगलवार को रामलीला मंचन के दौरान राम-हनुमान की भेंट, विभीषण का श्रीराम की शरण में आना, लंका पर युद्ध के लिए सेतु निर्माण, रावण-अंगद संवाद, लक्ष्मण जी के मूर्छित होना से लेकर संजीवनी बूटी लाने तक की लीला का मंचन किया गया। लीला के गेस्ट कोर्डिनेटर मंत्री अंकुश अग्रवाल ने बताया इस वर्ष लीला में विदेशी राजनयिकों के आने का सिलसिला मंचन के पहले दिन से जारी है, अंतिम चार दिनो में दस से ज़्यादा देशों के राजदूत लीला मंचन देखने आ रहे है। वहीं शास्त्री पार्क विष्णु अवतार रामलीला कमेटी में हनुमान जी के आगमन पर सुंदर झांकी व हनुमान चालीसा सहित राम-हनुमान मिलन, सुग्रीव-बाली युद्ध, लंका दहन की लीला का मंचन किया गया। 
शुर्पनखा की कटी नाक, सीता का हुआ हरण

आप के बृजेश गोयल ने निभाई अंगद की भूमिका
लवकुश रामलीला कमेटी में आप के सीनियर नेता बृजेश गोयल जब मंच पर अंगद के किरदार में उतरे तो उन्होंने मंझे हुए अभिनय से सभी दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। लंकापति रावण के दरबार में अपनी पूंछ से रावण के समान अपना आसन बनाकर अंगद और रावण के बीच जोरदार संवादों का दर्शकों ने भरपूर आनंद लिया तो अंगद द्वारा जमीं पर पावं जमाने का दृश्य भी काफी रोचक दर्शकों को लगा।


 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.