Saturday, Apr 17, 2021
-->
no-one-is-far-away-putin-will-remain-on-the-presidency-till-2036-albsnt

कोई नहीं हैं दूर-दूर तक! 2036 तक रहेंगे राष्ट्रपति पद पर पुतिन, लगी जनता की मुहर

  • Updated on 7/2/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटिल। कोरोना काल ही में रुस (Russia) के राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन ने मतदान के जरिये अभूतपूर्व शक्ति हासिल की है। जिसके तहत 2036 तक ब्लादिमीर पुतिन अब राष्ट्रपति के पद पर काबिज होंगे। यह पुतिन की व्यक्तिगत तौर पर बहुत बड़ी जीत है। साथ ही सत्ता के शीर्ष संस्थान पद पर बने रहेंगे। रुस के राष्ट्रपति को मिले अधिकार के बाद अब यह तय हो गया है कि पुतिन मौजूदा कार्यकाल समाप्त होने के बाद भी 6-6 साल के दो टर्म के लिये इस पद पर ही रहेंगे।

आखिर हांगकांग मसले पर भारत को क्यों करना चाहिये चीन का खुल कर विरोध?

पुतिन ने कोरोना काल ही में कराया मतदान

हालांकि वैश्विक महामारी के दौरान ही देश में मतदान को लेकर ब्लादिमीर पुतिन अपने विरोधी दलों के निशाने पर आ गए है। इस बाबत क्रेमलिन के पूर्व राजनीतिक सलाहकार ग्लेब पाव्लोव्स्की नेपुतीन की तीखी आलोचना की है। उन्होंने देश में हुए वोटिंग प्रक्रिया पर सवाल उठाते हुए कहा कि जब रुस कोरोना से दिन ब दिन जूझता नजर आ रहा है ऐसे में अभी मतदान कराने की क्या ओचित्य थी?  उन्होंने कहा कि अभी मतदान कराने का यह भी अर्थ है कि पुतिन अपने भविष्य को लेकर असुरक्षा महसूस कर रहे थे।

चीन के माइंडगेम में अब नहीं फंसेगा भारत, देगा हर मोर्चे पर पटखनी

रुस में भी जारी हैं कोरोना का कहर

बता दें कि रुस में भी कोरोना का कहर जारी है। जिस कारण मतदान भी एक सप्ताह तक कराया गया। दरअसल यह मतदान  संविधान संशोधन कानून को अमलीजामा पहनाने के लिये था। जिसको लेकर पुतिन ने एक बड़ा अभियान भी चलाया था। पुतिन के सत्ता पर मजबूत पकड़ निश्चित रुप से देश में उनके बढ़ते कद को भी दर्शाता है। एक बार फिर से साबित हो गया है कि पुतिन के समकक्ष रुस में फिलहाल कोई दूसरा नेता भी नहीं है।    

 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.