Thursday, May 06, 2021
-->
no provision for taking action against digital platforms in center rules : supreme court

केंद्र के नियमों में डिजिटल प्लेटफॉर्म के खिलाफ कार्रवाई करने के प्रावधान नहीं: सुप्रीम कोर्ट

  • Updated on 3/5/2021

 

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। उच्चतम न्यायालय ने शुक्रवार को कहा कि सोशल मीडिया के नियमन पर केन्द्र के दिशानिर्देशों में अनुचित विषयवस्तु दिखाने वाले डिजिटल प्लेटफॉर्म के खिलाफ उचित कार्रवाई के कोई प्रावधान नहीं हैं। न्यायालय ने वेब सीरीज तांडव को ले कर दर्ज प्राथमिकियों पर अमेजन प्राइम वीडियो की भारत प्रमुख अपर्णा पुरोहित को गिरफ्तारी से अंतरिम सुरक्षा प्रदान की। 

आत्महत्या के लिए उकसाने के मामले में अर्नब गोस्वामी को पेशी से मिली छूट 

न्यायाधीश अशोक भूषण और जस्टिस आर एस रेड्डी की पीठ ने वेब सीरीज तांडव को ले कर दर्ज प्राथमिकियों पर अग्रिम जमानत का अनुरोध करने वाली पुरोहित की याचिका पर उत्तर प्रदेश सरकार को नोटिस भी जारी किया। न्यायालय ने कहा कि सोशल मीडिया पर केन्द्र के नियमन महज दिशानिर्देश हैं, इनमें डिजिटल प्लेटफॉर्म के खिलाफ कार्रवाई को लेकर कोई प्रावधान नहीं हैं। 

अखिलेश बोले- सत्ता में आए तो ईवीएम सिस्टम को हटाने का चलेगा अभियान

केन्द्र की ओर से पेश सॉलिसीटर जनरल तुषार मेहता ने कहा कि सरकार उचित कदमों पर विचार करेगी, डिजिटल प्लेटफॉर्म के लिए किसी भी तरह के नियमों को अदालत के समक्ष पेश किया जाएगा। शीर्ष अदालत ने पुरोहित को अपनी याचिका में केन्द्र को भी पक्षकार बनाने को कहा। 

CBI निदेशक पद को लेकर ‘कॉमन कॉज’ की ओर से भूषण ने किया सुप्रीम कोर्ट का रुख

तांडव, नौ कडिय़ों वाली एक वेब श्रंखला है जिसमें बालीवुड अभिनेता सैफ अली खान, ङ्क्षडपल कपाडिय़ा और मोहम्म्द जीशान अय्यूब ने अभिनय किया है। पुरोहित पर उत्तर प्रदेश पुलिस का अनुचित चित्रण करना,और हिंदू देवी देवताओं के बारे में अपमानजनक बात दिखाने के आरोप हैं।

हरियाणा डीजीपी मनोज यादव को लेकर अनिल विज ने अपनाया कड़ा रुख

 

 

 

 

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें... 

comments

.
.
.
.
.