Sunday, Jan 23, 2022
-->
nomination-process-begins-55-pamphlets-were-sold-on-the-first-day-for-5-seats-in-ghaziabad

नामांकन प्रक्रिया का आगाज : गाजियाबाद में 5 सीट के लिए पहले दिन 55 पर्चे बिके, दाखिल कोई नहीं

  • Updated on 1/14/2022

नई दिल्ली/टीम डिजीटल। उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव-2022 के दृष्टिगत शुक्रवार से नामांकन प्रक्रिया का आगाज हो गया। जनपद गाजियाबाद में पहले दिन कोई पर्चा दाखिल नहीं किया गया। इसके इतर पांचों विधान सभा क्षेत्र से 36 व्यक्तियों द्वारा कुल 55 प्रपत्र खरीदे गए। मोदीनगर के लिए सबसे कम 2 और साहिबाबाद में सर्वाधिक 17 पर्चे क्रय किए गए। 

सुरक्षा व्यवस्था जांचने पहुंचे आईजी
इस बीच जिला मुख्यालय के भीतर और बाहर सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबंद रही। मेरठ परिक्षेत्र के आईजी प्रवीण कुमार ने एसपी (सिटी) के साथ सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। कलेक्ट्रेट परिसर में चप्पे-चप्पे पर नजर रखने को पर्याप्त संख्या में सीसीटीवी कैमरे भी लगाए गए हैं। कलेक्ट्रेट परिसर में नामांकन प्रक्रिया के मद्देनजर व्यापक प्रबंध किए गए हैं। प्रत्येक विधान सभा क्षेत्र के लिए नामांकन कक्ष की व्यवस्था की गई है। 

साहिबाबाद से सर्वाधिक 17 प्रपत्र क्रय 
नामांकन का समय प्रतिदिन सुबह 11 से दोपहर 3 बजे तक निर्धारित है। पहले दिन कोई भी प्रत्याशी पर्चा दाखिल करने नहीं पहुंचा। हालांकि नामांकन पत्रों की खरीदारी खूब हुई। पांचों विधान सभा क्षेत्र में चुनाव लड़ने के इच्छुक 36 व्यक्तियों ने 55 प्रपत्र खरीदे। मोदीनगर विधान सभा क्षेत्र के लिए 2, मुरादनगर में 7, लोनी में 14, गाजियाबाद शहर में 15 और साहिबाबाद में 17 प्रपत्र खरीदे गए। 

कांग्रेस उम्मीदवार ने भी खरीदा पर्चा
लोनी विस क्षेत्र से कांग्रेस उम्मीदवार यामीन मलिक ने भी पर्चा क्रय किया। साहिबाबाद को उत्तर प्रदेश का सबसे बड़ा विधान सभा क्षेत्र माना जाता है। इस विस क्षेत्र में तीसरी बार चुनाव होने जा रहा है। अब से पहले 2012 और 2017 में इस सीट पर इलेक्शन कराया गया था। नामांकन प्रक्रिया के चलते कलेक्ट्रेट परिसर में त्रिस्तरीय सुरक्षा घेरा बनाया गया है। जिला मुख्यालय के प्रवेश द्वार, डीएम कार्यालय के चैनल गेट और नामांकन कक्षों के बाहर पुलिस बल की तैनाती की गई है। 

बेवजह प्रवेश पर पाबंदी
नामांकन प्रक्रिया के वक्त किसी भी बाहरी व्यक्ति को बगैर कारण और सुरक्षा जांच के भीतर जाने की अनुमति नहीं है। सुरक्षा व्यवस्था को परखने के लिए शुक्रवार को पुलिस-प्रशासनिक अधिकारियों ने पैदल भ्रमण भी किया। इसके अलावा 14 सीसीटीवी कैमरों के जरिए कलेक्ट्रेट परिसर के हालात पर पैनी नजर रखी गई। उधर, नामांकन प्रक्रिया के दरम्यान कोरोना संक्रमण का डर भी दिखाई दिया। 

दिखा कोरोना संक्रमण का डर
लिहाजा कलेक्ट्रेट के अंदर और बाहर साफ-सफाई कराने के साथ-साथ फॉगिंग एवं सैनिटाइजेशन कराया गया। चुनावी डयूटी में लगे अधिकारी मास्क में दिखाई दिए। कलेक्ट्रेट के सामने सर्विस रोड पर यातायात को व्यवस्थित रखने को बैरिकेडिंग कर पुलिस कर्मी तैनात किए गए हैं। वहीं, कुछ प्रत्याशियों द्वारा शनिवार को पर्चा भरने की संभावना जाहिर की जा रही है।
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.