Thursday, Jan 27, 2022
-->
non-bailable-warrants-against-3-in-fake-covid-scam-during-kumbh-rkdsnt

कुंभ के दौरान फर्जी कोविड जांच घोटाले में 3 के खिलाफ गैर जमानती वारंट 

  • Updated on 8/30/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। कुंभ के दौरान फर्जी कोविड जांच मामले में हरिद्वार की एक अदालत ने मैक्स कॉरपोरेट सर्विसेज की मल्लिका और शरत पंत तथा नलवा पैथ लैब्स के डा नवतेज नलवा के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किए हैं ।  मामले में तीनों मुख्य अभियुक्तों के खिलाफ गैर जमानती वारंट हरिद्वार की मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत ने शनिवार को जारी किए । 

यति नरसिंहानंद के खिलाफ अब भाजपा नेता बग्गा और कपिल मिश्रा ने खोला मोर्चा

इस मामले में तीन फर्मों के खिलाफ दर्ज कराई गई प्राथमिकी में ये दोनों कंपनियां भी शामिल हैं। हरिद्वार के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सेंथिल अवूदई कृष्ण राज एस ने बताया कि अदालत से गैर जमानती वारंट हासिल करने के बाद विशेष जांच दल उनकी गिरफ्तारी के प्रयास कर रहा है। उन्होंने बताया कि पुलिस टीमों को अभियुक्तों की तलाश में उत्तर प्रदेश, हरियाणा और नयी दिल्ली रवाना किया गया है। 

पेंशनभोगी कर्मियों ने PM मोदी से पूछा- जब MPs, MLAs की पेंशन Tax फ्री है तो....

इस साल हरिद्वार में कुंभ के दौरान सैकडों ऐसे लोगों को निगेटिव कोविड जांच रिपोर्ट दे दी गई जिनके नमूने भी नहीं लिए गए थे । इसके अलावा, इनमें से अनेक लोग तो हरिद्वार कुंभ में भी नहीं गए थे। कुंभ के दौरान कोविड जांच कराने के लिए नोएडा की मैक्स कॉरपोरेट सर्विस को जिम्मा सौंपा गया था जिसने आगे यह काम दिल्ली के लालचंदानी लैब्स और हिसार के नलवा लैब्स को दे दिया। हरिद्वार कुंभ में फर्जी कोविड जांच घोटाले में कथित संलिप्तता के लिए हाल ही में उत्तराखंड के दो अधिकारियों को भी निलंबित किया गया था । 

यूपी चुनाव से पहले AAP ने आगरा में निकाली तिरंगा यात्रा, सिसोदिया भी शामिल

तत्कालीन मेलाधिकारी (चिकित्सा एवं स्वास्थ्य) डा अर्जुन सिंह सेंगर और तत्कालीन प्रभारी अधिकारी (चिकित्सा एवं स्वास्थ्य) डा एनके त्यागी को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के आदेश पर 26 अगस्त को निलंबित कर दिया गया था। यह कार्रवाई कथित फर्जी कोविड जांच घोटाले की जांच के लिए हरिद्वार के जिलाधिकारी द्वारा गठित जांच समिति की संस्तुति के आधार पर की गयी ।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

comments

.
.
.
.
.