Sunday, Oct 17, 2021
-->
Not malaria, dengue and scrub typhus became a disaster

मलेरिया नहीं, डेंगू और स्क्रब टाइफस बना आफत

  • Updated on 9/9/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। अधिकांश बार यह देखा जाता है कि डेंगू व मलेरिया साथ-साथ लोगों को अपनी चपेट में लेता है। लेकिन इस बार मलेरिया नहीं, बल्कि डेंगू और स्क्रब टाइफस लोगों के लिए आफत बना हुआ है है। वीरवार को भी डेंगू और स्क्रब टाइफस के 5-5 मरीज सामने आए है।

जिले में सीजनल वायरल बुखार, डेंगू, मलेरिया का ही प्रकोप बना हुआ है। जिसके चलते सरकारी से लेकर प्राइवेट अस्पतालों की ओपीडी में मरीज बड़ी संख्या पहुंच रहे है। वहीं डेंगू के साथ ही अब स्क्रब टाइफस भी लोगों के मुसीबत बनता जा रहा है। बीते दिनों में ही इनकी संख्या 23 तक पहुंच चुकी है। जहां मंगलवार को 10, बुधवार को 8 व वीरवार को 5 लोगों में इसकी पुष्टि हुई है। हालंकि  राहत की बात यह है कि इनके मरीजों की संख्या घटी है, वहीं मरीज जल्द स्वस्थ भी हो रहे है। जिला सर्विलांस अधिकारी डॉ. आरके गुप्ता का कहना है कि वीरवार को 5 डेंगू के मरीज सामने आए है।

जिसके बाद जिले में मरीजों की संख्या 59 तक पहुंच चुकी है। इसमें से 48 मरीज निजी अस्पताल से है, जबकि 11 मरीज सरकारी से है।14 मरीजों ऐेसे है जो अन्य जिलों से यहां आए है और उनका उपचार चल रहा है। इसके अलावा स्क्रब टाइफस 5 मरीज मिलें है, इन मरीजों की संख्या 23 पहुंच गई है। 17 मरीज जनपद से है, जबकि 6 अन्य जिलों से है। वहीं मलेरिया का दो दिन से कोई मरीज नहीं मिला है। कोई भी मरीज अधिक गंभीर नहीं है। सभी की स्थिति सही है। 

सर्वे में मिलें 348 बुखार के मरीज 
इसके अलावा जिले में डोर-टू-डोर सर्वे भी शुरू हो चुका है। वीरवार को 121935 घरों में सर्वे किया गया। 348 लोग बुखार से पीडि़त मिलें। स्वास्थ्य विभाग अनुसार इनकी डेंगू, मलेरिया अन्य जांच की जा रही है। वहीं, 45 वर्ष से अधिक आयु वाले 13835 ऐसे लोग मिले हैं, जिन्हें कोविड वैक्सीन की एक भी डोज नहीं लगी है। इसके अलावा टीबी के 10 नए मरीज मिले हैं। 
 

comments

.
.
.
.
.