Friday, Oct 07, 2022
-->
not see eid moon last roza on monday eid on tuesday ramadan rkdsnt

नहीं हुआ ईद के चांद का दीदार, सोमवार को आखिरी रोजा, मंगलवार को ईद

  • Updated on 5/1/2022

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। दिल्ली समेत देश के किसी भी हिस्से में रविवार को ईद का चांद नजर नहीं आया, इसलिए ईद-उल-फित्र का त्योहार मंगलवार को मनाया जाएगा तथा सोमवार को 30वां और आखिरी रोजा होगा। फतेहपुरी मस्जिद के शाही इमाम मौलाना मुफ्ती मुकर्रम अहमद ने बताया कि दिल्ली समेत देश के कई हिस्सों में ईद का चांद नकार नहीं आया है, इसलिए ईद का त्योहार मंगलवार तीन मई को मनाया जाएगा। उन्होंने कहा, 'उत्तर प्रदेश,, बंगाल, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, गुजरात और राजस्थान समेत किसी भी राज्य से चांद दिखने की खबर नहीं मिली है। ’’ 

कमर्शियल LPG सिलेंडर की मूल्य वृद्धि को लेकर कांग्रेस का मोदी सरकार पर निशाना 

 

उन्होंने कहा कि सोमवार को 30वां  रोजा होगा और शव्वाल (इस्लामी कैलेंडर के 10वें महीने) की पहली तारीख मंगलवार को होगी। शव्वाल के महीने के पहले दिन ईद होती है। वहीं, जामा मस्जिद के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी ने एक बयान में कहा कि देश के किसी हिस्से से शव्वाल यानी ईद-उल-फित्र का चांद दिखने की कोई खबर नहीं है। बुखारी ने कहा, 'ईद तीन मई मंगलवार के दिन होगी।’’   उधर, मुस्लिम संगठन इमारत-ए-शरिया हिंद ने भी एलान किया है कि रविवार को देश के किसी हिस्से में मीठी ईद का चांद नजर नहीं आया है, लिहाजा मंगलवार को दिल्ली व देश के अन्य हिस्सों में ईद का त्योहार मनाया जाएगा।

रिटायरमेंट के बाद नौकरशाहों के चुनाव लड़ने पर रोक लगाने से जुड़ी याचिका खारिज

संगठन ने एक बयान में कहा, ' उत्तर प्रदेश के लखनऊ, कानपुर, आकामगढ़ और सीतापुर, बहराइच, मध्य प्रदेश के खरगोन, गुजरात के गोधरा, महाराष्ट्र के धुले, कर्नाटक के बेंगलुरु, बंगाल, असम, कश्मीर और पंजाब में आदि से संपर्क किया गया, लेकिन कहीं से भी चांद दिखने की सूचना नहीं है।’’ मुस्लिम धर्म गुरु रशीद फिरंगी महली ने यह भी घोषणा की कि शव्वाल का चांद नजर नहीं आया है और इसलिए ईद तीन मई को मनाई जाएगी।  

केजरीवाल पहली चुनावी रैली में बोले- हम गुजरात के आदिवासियों के साथ खड़े हैं

मुसलमानों के लिए अभी इस्लामी कैलेंडर का नौवां महीना ‘रमजान’ चल रहा है जिसमें समुदाय के लोग रोजा (व्रत) रखते हैं। रमजान के महीने में रोजादार सुबह सूरज निकलने से पहले से लेकर सूरज डूबने तक कुछ नहीं खाते- पीते हैं। यह महीना ईद का चांद नजर आने के साथ खत्म होता है। बता दें कि इस्लामी कैलेंडर में महीना 29 या 30 दिन का होता है, जो चांद के हिसाब से तय होता है।   मुफ्ती मुकर्रम ने लोगों से गुजारिश की वे ईद की नमाज से पहले ‘फित्रा’ (दान) जरूर करें।  उन्होंने कहा कि मध्यम वर्गीय परिवार 60 रुपये प्रत्येक व्यक्ति की दर से जबकि उच्च मध्यम वर्गीय परिवार 80 रुपये प्रति व्यक्ति की दर से फित्रा दे।

पटियाला में झड़प के बाद हरकत में आए सीएम मान, AAP ने साधा BJP पर निशाना

comments

.
.
.
.
.