Sunday, Sep 26, 2021
-->
notice against jnu students in case of library opening aisa raises questions rkdsnt

लाइब्रेरी खोलने के मामले में जेएनयू छात्रों के खिलाफ नोटिस, आइसा ने उठाए सवाल

  • Updated on 4/8/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। ऑल इंडिया स्टूडेंट्स एसोसिएशन (आइसा) ने जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के पुस्तकालय में कथित रूप से जबरन घुसने और रीडिंग हॉल पर कब्जा करने के मामले में 12 छात्रों के खिलाफ प्रॉक्टर स्तर की जांच के विश्वविद्यालय के नोटिस की निंदा की है और इसे तत्काल प्रभाव से वापस लेने की मांग की है। 

सुप्रीम कोर्ट ने CBI जांच के खिलाफ देशमुख, महाराष्ट्र सरकार की अपील को किया खारिज

कोरोना वायरस महामारी की वजह से बंद विश्वविद्यालय के डॉ बीआर आंबेडकर केंद्रीय पुस्तकालय को प्रदर्शनकारी छात्रों ने 10 मार्च को खोल दिया था। विश्वविद्यालय ने 12 मार्च को पुस्तकालय के अंदर भूतल पर स्थित रीडिंग कक्षों को पुन: खोलने की मंजूरी दे दी थी। 

केजरीवाल की तर्ज पर अभिषेक बनर्जी ने मांगे जनता से TMC के लिए वोट

मुख्य प्रॉक्टर के कार्यालय की ओर से 31 मार्च को जारी नोटिस में आरोप लगाया गया है कि छात्र अनुशासनहीनता के कृत्यों में संलिप्त थे जिनमें प्रदर्शन करना, जबरन पुस्तकालय में घुसना, रीडिंग हॉल पर कब्जा जमाना तथा कोविड-19 के नियमों की अवहेलना करना शामिल हैं। 

राफेल सौदे में भ्रष्ट्राचार के आरोपों को लेकर माकपा ने खोला मोदी सरकार के खिलाफ मोर्चा

उन्हें 13 अप्रैल को प्रॉक्टर की समिति के समक्ष पेश होने और उनका पक्ष रखने का निर्देश दिया जाता है। वाम समर्थित संगठन आइसा ने अपने बयान में कहा कि जेएनयू के छात्र लंबे समय से पुस्तकालय सुविधाएं बहाल करने की मांग कर रहे हैं। 

पीएम मोदी ने ममता की ‘गालियों’ को बनाया बंगाल में चुनावी हथियार 

 

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें... 


 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.