Tuesday, Nov 29, 2022
-->
novavax sii apply to who for emergency use listing of covid vaccine prshnt

नोवावैक्स, SII ने कोविड टीके के उपयोग की WHO से मांगी अनुमति

  • Updated on 9/24/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। दवा कंपनी नोवावैक्स और इसकी साझेदार सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) ने बृहस्पतिवार को कहा कि उन्होंने नोवावैक्स के कोविड-19 टीके की आपातकालीन उपयोग सूचीबद्धता (ईयूएल) के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन के पास आवेदन किया है। नोवावैक्स इंक ने एक बयान में कहा कि डब्ल्यूएचओ के पास किया गया आवेदन भारत के औषध महानियंत्रक (डीसीजीआई) के समक्ष कंपनी द्वारा पूर्व में किए गए नियामक प्रस्तुतीकरण पर आधारित है।

नोवावैक्स के अध्यक्ष एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी स्टेनले सी इर्क ने कहा, '' हमारे प्रोटीन आधारित कोविड-19 टीके के आपातकालीन उपयोग सूचीबद्धता के लिए डब्ल्यूएचओ के पास आज किया गया आवेदन दुनिया भर के उन देशों में टीके की पहुंच सुनिश्चित करने में अहम कदम साबित होगा जिन्हें इस समय इसकी बेहद आवश्यकता है।'' डब्ल्यूएचओ द्वारा ईयूएल की मंजूरी इसके कोवैक्स अभियान में भाग लेने वाले कई देशों को निर्यात के लिए एक पूर्व निर्धारित शर्त है।

बेजुबान जानवर ने कैसे चलवा दिए लाठी और डंडे, जानिए

उपचाराधीन मरीजों की संख्या में कुल 1,478 की कमी दर्ज
बता दें कि भारत में एक दिन में कोविड-19 के 31,382 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 3,35,94,803 हो गई। वहीं, उपचाराधीन मरीजों की संख्या कम होकर 3,00,162 रह गई है, जो 188 दिनों बाद सबसे कम है। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से शुक्रवार सुबह आठ बजे जारी किए गए अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, संक्रमण से और 318 लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 4,46,368 हो गई। देश में अभी 3,00,162 लोगों का कोरोना वायरस संक्रमण का इलाज चल रहा है, जो कुल मामलों का 0.89 प्रतिशत है। यह दर मार्च 2020 के बाद से सबसे कम है। पिछले 24 घंटे में उपचाराधीन मरीजों की संख्या में कुल 1,478 की कमी दर्ज की गई। मरीजों के ठीक होने की राष्ट्रीय दर 97.78 प्रतिशत है, जो मार्च 2020 के बाद से सर्वाधिक है।

PM मोदी के साथ बैठक में शीर्ष अमेरिकी CEO ने भारत में हुए सुधारों की सराहना की

जून में 3 करोड़ से ज्यादा हुए थे मामले
देश में पिछले साल सात अगस्त को संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त को 30 लाख और पांच सितंबर को 40 लाख से अधिक हो गई थी। वहीं, संक्रमण के कुल मामले 16 सितंबर को 50 लाख, 28 सितंबर को 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख और 20 नवंबर को 90 लाख के पार चले गए थे। देश में 19 दिसंबर को ये मामले एक करोड़ के पार, इस साल चार मई को दो करोड़ के पार और 23 जून को तीन करोड़ के पार चले गए थे।

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें...

 

comments

.
.
.
.
.