Friday, May 07, 2021
-->
now 8 videos released by abvp left parties responsible for violence

वीडियो जारी कर ABVP ने JNU हिंसा के लिए वामपंथी दलों को ठहराया जिम्मेदार

  • Updated on 1/14/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) ने सोमवार को प्रेस क्लब (Press Club) में एक वार्ता आयोजित कर जेएनयू परिसर (JNU Campus) में 5 जनवरी को घटे घटनाक्रम के 8 वीडियो जारी कर वामपंथी (Left) विचारधारा के संगठनों को जेएनयू हिंसा (Jnu Violence) के लिए जिम्मेदार ठहराया। दिखाए गए वीडियोज में वामपंथी संगठनों के नेता भारी मात्रा में लाठी और पत्थर लिए हुए दिखाई दे रहे हैं। कुछ वीडियो में लेफ्ट कार्यकर्ता (Left Workers) को स्पष्ट और समन्वित तरीके से एबीवीपी के छात्रों को मारते हुए देखा जा सकता है।

CAA के विरोध का क्रेडिट लेने की होड़, ममता बनर्जी ने कहा- कैब पर सबसे पहले विरोध हमने किया था

पेरियार हॉस्टल के सामने हुई हिंसा
पुलिस (Police) के द्वारा लिए गए सभी नामों को पेरियार हॉस्टल के सामने हुई हिंसा में लिप्त देखा जा सकता है। एबीवीपी (ABVP) की राष्ट्रीय महामंत्री निधि त्रिपाठी ने इस बात पर प्रकाश डाला कि जेएनयू (JNU) का परिसर 28 अक्तूबर 2019 से ही तनाव से भरा हुआ था। वामपंथियों ने पहले छात्रों की भावनाओं को भड़का कर उनका दुरुपयोग किया और बाद में जब छात्र समुदाय वामपंथियों के झांसे से बाहर निकल गया तो वामपंथियों ने अपने गिरते हुए समर्थन से क्षुब्ध होकर हिंसा की।

PM मोदी और अमित शाह को जान से मारने की धमकी, प्रज्ञा ठाकुर को मिली संदिग्ध चिट्ठी

ढाई महीनों से ठप है जेएनयू में क्लास
वामपंथियों ने विश्वविद्यालय में सभी शैक्षणिक गतिविधियों को बाधित किया। पिछले ढाई महीनों से जेएनयू में कक्षाएं नहीं चल रही हैं, परीक्षा को भी वामपंथियों ने नहीं होने दिया, और सबसे दुर्भाग्यपूर्ण यह है कि अगले सेमेस्टर (Semester) के लिए पंजीकरण करने गए छात्रों पर हमला किया गया वामपंथियों के शैक्षणिक-विरोधी रवैये के कारण जेएनयू के सभी पढ़ाई करने की इच्छा रखने वाले विद्यार्थियों को दंडित करने के लिए हिंसा का सहारा लिया है।

JNUSU समेत तीन लोगों से दिल्ली पुलिस की टीम ने की पूछताछ

वाम छात्र संगठन के निर्देशों पर काम हो रहा है
वामपंथी छात्र संगठन (Left Student Union) जेएनयू के वामपंथी शिक्षकों के निर्देशों पर काम कर रहे हैं। वे सभी अध्यापक राजनीति से प्रेरित हैं और वे छात्रों को अपनी भयानक राजनीति खेलने के लिए उपयोग कर रहे हैं जो अनिवार्य रूप से विनाशकारी है और इसका उद्देश्य समाज में अस्थिरता का माहौल लाना है। एबीवीपी (ABVP) ने पुलिस को सभी वीडियो साक्ष्य प्रस्तुत किए हैं और 28 अक्तूबर से शुरू होने वाली घटनाओं की श्रृंखला की निष्पक्ष और विस्तृत जांच की मांग की है।

comments

.
.
.
.
.