Sunday, Dec 04, 2022
-->
now icc chief shashank manohar name add to amrapali group fraud case

धोनी-साक्षी के बाद अब आम्रपाली के दायरे में आए ICC चीफ शशांक मनोहर

  • Updated on 7/26/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। आम्रपाली ग्रुप(Amrapali Group) के धोखाधड़ी मामले में महेंद्र सिंह धोनी(MS Dhoni) और उनकी पत्नी साक्षी(Sakshi Dhoni) का नाम आने के बाद इसमें अंतरराष्ट्रीय क्रिकट परिषद के चीफ शशांक मनोहर भी घिरते नजर आ रहे है। एक जानकारी के अनुसार शशांक मनोहर(Shashank Manohar) को इस ग्रुप की तरफ से कुछ फंड ट्रांसफर हुआ है जिसमें कोर्ट का कहना है कि इस तरह का भुगतान करना ग्रुप के फंड का गलत इस्तेमाल करने की श्रेणी में आएगा। 

IPL का यह कोच अब टीम इंडिया को देगा फील्डिंग का गुरुमंत्र, जानिए क्या है खासियत

शशांक मनोहर के खाते में  36 लाख हुए ट्रांसफर
सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि आम्रपाली ग्रुप के सीएमडी अनिल कुमार शर्मा(Anil Kumar Sharma) द्वारा ICC के अध्यक्ष शशांक मनोहर के खाते में 36 लाख रुपये भेजे गए हैं। कोर्ट ने कहा कि यह आम जनता का पैसा था और उन्होंने अपनी मेहनत की कमाई आम्रपाली ग्रुप में घर खरीदने के लिए दिए थे। आपको बता दें कि शशांक मनोहर को उन लोगों की लिस्ट में शामिल किया है जिन्हें अनिल कुमार शर्मा ने 8.71 करोड़ रुपये भेजे हैं।

देखें हैरत में डालने वाला Video, खुद सचिन ने शेयर कर पूछा- बल्लेबाज आउट या नॉट आउट

कोर्ट ने जांच के दिए आदेश
सर्वोच्च न्यायालय(Supreme Court) ने प्रवर्तन निदेशालय को ग्रुप के फंड की जांच के आदेश दिए। न्यायालय(Court) ने कहा कि कंपनी के निदेशक और कर्मचारियों ने आम जनता के पैसों का गलत इस्तेमाल किया है। बता दें कि आम्रपाली ग्रुप के कर्मचारियों ने लोगों के पैसों को अपने परर्सनल शौक को पूरा करने के लिए प्रयोग किया। इन लोगों ने इन पैसों को महंगी कार, विदेश की यात्राएं करने और जेवर खरीदने में प्रयोग किया।

यह हैं वह गैजेट्स जो आपके सपनों के घर को बना देंगे 'स्मार्टहोम'

मनोहर ने कहा- ग्रुप के खिलाफ लड़ चुके हैं केस
शशांक मनोहर ने इस बात पर कहा कि वह एक वकील भी हैं और उन्होंने आम्रपाली ग्रुप के खिलाफ पटना हाईकोर्ट में केस भी लड़ा है। उन्होंने कहा कि इसके अलावा हमारा कोई संबंध नहीं है। आपको बता दें कि सर्वोच्च न्यायालय के पूरे आदेश में शशांक मनोहर का नाम सिर्फ दो बार लिखा गया है। 

कश्मीर में 15 दिनों तक अपनी बटालियन के साथ रहेंगे धोनी

पहली बार जब  उन लोगों की सूची तैयार की जा रही थी जिन्हें खाते में पैसे ट्रांसफर किए गए हैं, और दूसरी बार तब जब शर्मा ने ऑडिटर्स के द्वारा भुगतान करने वाले की सूची बनाई थी।बता दें सुप्रीम कोर्ट के 270 पेज के फैसले में फॉरेंसिक ऑडिट रिपोर्ट को भी शामिल किया गया था।

टीम इंडिया की जर्सी से आउट हुई चीनी कंपनी, दिखेगा अब भारतीय कंपनी का नाम   

जिसमें धोनी और साक्षी का नाम आया है। पेज नंबर 81 पर उन कंपनियों नाम है, जिन्हें सिर्फ पैसो के हेरा-फेरी करने के मकसद से बनाया गया था। इसे फॉरेंसिंक ऑडिट रिपोर्ट में जिस कंपनी का नाम दिया गया है, वो है आम्रपाली माही डेवलपर्स प्राइवेट लिमिटेड। जिसमें धोनाी और साक्षी का नाम भी शामिल है। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.