Wednesday, Dec 01, 2021
-->
nri indians support of agitated farmers launched gulab campaign valentine day rkdsnt

आंदोलनरत किसानों के समर्थन में उतरे प्रवासी भारतीय, चलाया वैलेंटाइन डे पर अभियान

  • Updated on 2/14/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। भारत में तीन नये कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों के समर्थन में प्रवासी भारतीयों के संगठनों के एक समूह ने रविवार को वैलेंटाइन दिवस के मौके पर अमेरिका में गुलाब अभियान की शुरूआत की। द ग्लोबल इंडियन प्रोग्रेसिव डायस्पोरा (जीआईपीडी) ने वैलेंटाइन दिवस के मौके पर सोशल मीडिया पर इस अभियान की शुरूआत की है। पूरे विश्व में 14 फरवरी को वैलेंटाइन दिवस मनाया जाता है। 

बजट सत्र का पहला चरण खत्म: भाजपा-कांग्रेस के बीच विशेषाधिकार हनन का वार-पलटवार

केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ हजारों किसान दिल्ली की सीमा पर पिछले साल नवंबर से प्रदर्शन कर रहे हैं । इनमें से अधिकतर पंजाब एवं हरियाणा से हैं। इन किसानों की मांग है कि सरकार इन कानूनों को वापस लेते हुये न्यूनतम समर्थन मूल्य की कानूनी गारंटी दे। सरकार एवं किसानों के बीच हुयी कई दौर की वार्ता के बावजूद गतिरोध समाप्त नहीं हुआ है। 

कांग्रेस बोली- सीतारमण देश की अर्थव्यवस्था के लिए हानिकारक हैं

जीआईपीडी ने सोशल मीडिया पर अपने पोस्ट में कहा, ‘‘प्रधानमंत्री (नरेंद्र) मोदी से इन कृषि कानूनों को वापस लेने का अग्रह करते हुये उन्हें ट्वीट कीजिए और गुलाब भेजिये अथवा अपने अपने क्षेत्र के भारतीय दूतावास, भारतीय महावाणिज्य दूतावास को किसानों के साथ एकजुटता प्रकट करने के लिये गुलाब भेजिये।’’ 

ONGC का शुद्ध लाभ 67 फीसदी लुढ़का, तेल-गैस कीमतों में कमी बनी वजह!

मीडिया बयान में कहा गया है कि दुनिया भर में फैले एक दर्जन से अधिक प्रवासी भारतीयों का संगठन- ‘प्रगतिशील भारतीयों का अंतरराष्ट्रीय समुदाय’ किसानों की मांग का समर्थन करता है और इन कानूनों को वापस लेने की मांग करता है। 

बिहार में प्रशांत किशोर के घर पर चला बुलडोजर, सियासत गर्म

इसमें कहा गया है, ’’लक्ष्य को हासिल करने के उद्देश्य से, साझेदार संगठनों का एक व्यापक गठबंधन हमारे मीडिया भागीदारों और साथी मानवाधिकार संगठनों को आमंत्रित करता है ताकि वे किसानों की आवाज का समर्थन करने में और भारत में शांति, एकता और सछ्वाव के लिए एक सार्वभौमिक आह्वान में मदद कर सकें ।’’

केरल में सियासी दलों ने चुनाव आयोग से एक ही चरण में चुनाव कराने का किया अनुरोध

 

 

 

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

 

comments

.
.
.
.
.