Tuesday, Apr 13, 2021
-->
Nursery Admission 2021 schools asking for up to 60 thousand KMBSNT

Nursery Admission: फीस को लेकर उलझन में अभिभावक, 23 से 60 हजार तक मांग रहे स्कूल

  • Updated on 3/24/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। राजधानी के निजी स्कू लों में 75 फीसद ओपन सीट्स पर 20 मार्च को जारी की गई पहली सूची पर सोमवार से दाखिला  (Nursery Admission) प्रक्रिया चल रही है। जहां अभिभावक स्कूल जाकर अपने दस्तावेज चेक कराकर सीट पक्की करने के लिए फीस जमा कर रहे हैं। अभिभावकों का कहना है कि कुछ स्कूल एक महीने की फीस मांगी है बाकी फीस स्कूल खुलने पर ली जाएगी।

वहीं कुछ स्कूल फीस में कोई ब्रेकअप नहीं दे रहे हैं। उन्हें 40 हजार, 60 हजार या जो भी उनकी फीस है पूरी जमा करा रहे हैं। एक अभिभावक बबिता ने बताया कि डीएवी स्कूल बिना ब्रेकअप के 40 हजार मांग रहा है। वहीं कई अभिभावक फीस रिफंड को लेकर उलझन में नजर आ रहे हैं। उनका कहना है कि स्कूल कैश में फीस मांग रहे हैं, जिसकी वो रसीद नहीं दे रहे। 

केजरीवाल सरकार ने 18 साल से ऊपर के लोगों को कोरोना रोधी टीका लगवाने के लिए केंद्र से अपील

फीस वापसी को लेकर उलझन में पड़े
25 को जारी होने वाली दूसरी सूची में पसंद का स्कूल मिलने पर वह पहले स्कूल से फीस वापस कैसे लेंगे। उन्होंने जब स्कूल से पता किया तो स्कूल कह रहा है कि सिर्फ 500 रुपए वापस करेंगे। द्वारका स्थित कुछ स्कूलों की फीस की बात करें तो बीजीएस 50 हजार रुपए फीस ले रहा है, जिसकी वह रसीद दे रहा है।

सोमनाथ भारती को सुनाई गई दो साल की सजा को अदालत ने रखा बरकरार 

इतनी फीस मांग रहे स्कूल 
वहीं केएचएमएस अशोक विहार 40 हजार, कैब्रिज 50 हजार, रयान सैलोम 57 हजार रोहिणी, रामजस स्कूल आरकेपुरम 23,300 रुपए, सेट्रल दिल्ली में एसपीवी 42500 रुपए ले रहे हैं। शिक्षा निदेशालय के एक अधिकारी ने कहा कि स्कूल अभी खुले नहीं हैं और ऑनलाइन कक्षाएं ही संचालित की जाएंगी। इसलिए वह डेवलपमेंट चार्ज, एनुअल चार्ज, वाहन शुल्क आदि नहीं ले सकेंगे। वहीं स्कूलों को निदेशालय की गाइडलाइंस के मुताबिक कैश में फीस नहीं लेनी है।

ये भी पढ़ें: 

comments

.
.
.
.
.