शहरी सभ्यता में जीनेवाले शायर हैं जावेद अख्तर, पढ़ें उनकी चुनिंदा शायरी

  • Updated on 1/16/2019

नई दिल्ली/श्वेता राणा। ये अल्फाज हैं पांच नेशनल फिल्म पुरस्कार, छह: फिल्मफेयर पुरस्कार, पद्म श्री, पद्म भूषण, साहित्य अकादमी जैसे ढेरों पुरस्कार पा चुकें जावेद अख्तर के। फिल्म इंडस्ट्री के जाने-माने स्क्रिप्ट राइटर और कवि जावेद अख्तर का कल जन्मदिन है।

Image result for javed akhtar black and white साल 1945 में ग्वालियर में पैदा हुए जावेद कल यानी 17 जनवरी को 73 साल के हो जाएंगे। बॉलीवुड के गानों में अपने जादुई शब्दों का जाल बुनने वाले जावेद अख्तर का शायरी और नज्मों से काफी पुराना रिश्ता है।

2019 चुनाव में 'मोदी बनाम ऑल' की लड़ाई, कितना झूठ-कितना सच?

ये कहना गतल नहीं होगा कि शेरो-शायरी की ये इनायत उन्हें विरासत में मिली थी। उनके मामा मजाज लखनवी और पिता जांनिसार अख्तर अपने दौर के जाने-माने उर्दू कवि थे। सिर्फ यहीं नहीं जावेद अख्तर के दादा मुज्तर खैरबादी, उनके परदादा के बड़े भाई बिस्मिल खैरबादी और उनके दादा के दादा फजल-ए-हक खैरबादी भी एक कवि रहे हैं।

Image result for javed akhtar black and whiteवहीं उनके ससुर कैफी आजमी साहब भी प्रसिद्ध कवि हैं। मतलब कहा जाए तो उनका परिवार लेखन के क्षेत्र में वहीं रुतबा रखता है जो फिल्म इंडस्ट्री में कपूर और खान का है।

पुण्यतिथि: नहाते हुए भी म्यूजिक कम्पोज कर लेते थे पंचम दा, पढ़ें मजेदार किस्सा

जावेद अख्तर ने सिर्फ फिल्मी गीत और फिल्मी स्क्रिप्ट लिखकर  ही नहीं बल्कि उर्दू नमों से भी अपना नाम कमाया है। जावेद का 'तरकश' नामक कविता संग्रह काफी चर्चित रहा है। ये कहना गलत नहीं होगा कि 'तरकश' उनकी शायरी का जबरदस्त मजमूआ है। 

तरकश में एक जगह वे लिखते हैं - मेरी उम्र आठ बरस है. बाप बम्बई में है, मां कब्र में.जावेद अख्तर की शायरी शहरी सभ्यता में जीनेवाले शायर की शायरी है। उनकी शायरी एक ऐसे इंसान की भावनाओं की शायरी है, जिसने वक्त के अनगिनत रूप अपने भरपूर रंग में देखे हैं, जिसने जिंदगी के सर्द-गर्म मौसमों को पूरी तरह महसूस किया है, जो नंगे पैर अंगारों पर चला है। जावेद की शायरी एक आवाज है, जो अपनी हर भावना और अनुभव को बयान करने की शक्ति रखता है।

खड़गे ने CBI के अंतरिम निदेशक को लेकर मोदी सरकार पर बोला हमला

उनकी शायरी/नज्म से आइए आज आपको रू-ब-रू कराते हैं।

शेर:-

 

 

 

 

 

नज्म:- आप भी आइए

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.