once red fort color is white

जानिए भारत के इतिहास से जुड़े उन पन्नों को जब कभी सफेद हुआ करता था लालकिला

  • Updated on 8/15/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। आजादी दिवस पर सबसे बड़ा जलसा दिल्ली के लालकिला में होता है। हर साल प्रधानमंत्री लालकिले के प्राचीर से देश को संबोधित करते हैं। लालकिले की अहमियत जितनी बड़ी है, इसकी दास्तान भी उतनी ही रोचक है...

1. 1638 में मुगल बादशाह शाहजहां ने लालकिले को बनवाया था। उन्होंने आगरा की जगह दिल्ली को अपनी राजधानी बनाया था। यूनेस्को के विश्व धरोहर में लालकिला भी शामिल है

Navodayatimes

2. लालकिले का असल रंग सफेद था, क्योंकि यह चूना पत्थर से बनाया गया था। बाद में चूना पत्थर जब खराब होने लगा तो अंग्रेजों से इस पर लाल रंग चढ़वा दिया, तभी से इसे लालकिला कहा जाने लगा

3. 10 साल में लालकिले का निर्माण पूरा हो गया था। उस्ताद हामिद और उस्ताद अहमद ने 1638 में इसका काम शुरू किया था, जो कि 1648 में पूरा हुआ

Navodayatimes

4. लालकिला 8 हिस्सों में बंटा है - दीवान-ए-खास, दीवान-ए-आम, खास महल, नहर-ए-बहिश्त, जनाना, नक्करखाना, मोती मस्जिद और हयात बख्श बाग

5. मुगल शासनकाल में लालकिले को किला-ए-मुबारक कहा जाता था। दुनिया का सबसे बड़ा कोहिनूर हीरा यहीं रखा गया था। शाहजहां जिस तख्त पर बैठते थे, उसी में यह हीरा जड़ा था

Navodayatimes

6. यह किला यमुना नदी के किनारे बना है। इस किले की नक्काशी में फारसी, यूरोपीय और भारतीय कला का समावेश नजर आता है

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.