Saturday, Jan 22, 2022
-->
Only 27 percent of December food grains reached ration shops public upset ALBSNT

राशन दुकानों पर पहुंचा दिसंबर का सिर्फ 27 फीसदी खाद्यान्न, जनता परेशान

  • Updated on 12/5/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली में कोटाधारकों के विरोध के बाद दिसंबर माह के लिए सिर्फ 50 फीसदी ही अग्रिम भुगतान राजधानी में हो पाया है। जबकि जिन 50 फीसदी कोटाधारकों का ईसीएस कट गया है वो खाद्यान्न उतरवाने में आना-कानी कर रहे हैं। जिसके चलते पहले ही सुस्त आपूर्ति प्रणाली और भी मंद गति से चल रही है।

दिल्ली में 24 घंटे में कोरोना के 3,419 से ज्यादा नए केस, 77 लोगों की मौत

सूत्रों के अनुसार दिसंबर माह का वितरण 1 दिसंबर से ही हो जाना चाहिए था लेकिन अभी तक 27 फीसदी खाद्यान्न की आपूर्ति भी दिल्ली में नहीं हो पाई है। इसका सीधा खामियाजा जनता को भुगतना पड रहा है, राशनकार्डधारी सरकारी राशन की दुकानों के चक्कर लगाकर परेशान हो चुके हैं। वहीं कोटाधारक इस बार खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के आगे झुकने को तैयार नहीं हैं।

किसान आंदोलन के कारण गिरे सब्जियों के दाम, 4 रुपये किलो हुई गोभी

विश्वस्त सूत्रों के अनुसार 5 दिसंबर तक मायापुरी गोदाम से करीब 20 फीसदी, घेवरा से 29 फीसदी, नरेला से 30 फीसदी, सीटीओ पूसा से 25 फीसदी, ओखला से 24 फीसदी व शक्ति नगर से करीब 34 फीसदी खाद्यान्न की आपूर्ति की जा चुकी है जोकि कुल 27 फीसदी के लगभग है। बात अगर क्विंटल में की जाए तो दिसंबर माह में इन 6 गोदामों से करीब 372429 क्विंटल खाद्यान्न की आपूर्ति की जानी चाहिए थी पर 101782 क्विंटल खाद्यान्न की ही आपूर्ति हो पाई है और अभी भी 270647 क्विंटल के करीब राशन नहीं भेजा जा सका है।

ये भी पढ़ें...

comments

.
.
.
.
.