Wednesday, Oct 16, 2019
only one city kirtan will enter pakistan through wagah border

वाघा बॉर्डर के रास्ते अब एक ही नगर कीर्तन करेगा पाकिस्तान में प्रवेश

  • Updated on 10/11/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। श्री गुरुनानक देव जी (guru nanak dev ji) के 550वें प्रकाश पर्व के उपलक्ष्य में अब सिर्फ एक नगर कीर्तन 28 अक्टूबर को दिल्ली (Delhi) से ननकाना साहिब (Nankana Sahib) जाएगा। इस अंतराष्ट्रीय नगर कीर्तन की अगुवाई सरना (Sarna) बंधुओं की पार्टी शिरोमणि अकाली दल (Shiromani Akali Dal) (दिल्ली) करेगी। नगर कीर्तन दिल्ली के नानक प्याऊ गुरुद्वारा से शुरू होकर हरियाणा (Haryana) के विभिन्न शहरों से होता हुआ लुधियाना में रात्रि विश्राम करेगा। दूसरे दिन पंजाब (Punjab) के विभिन्न शहरों से होता हुआ सुल्तानपुर लोधी में और तीसरे दिन अमृतसर में रात्रि विश्राम होगा। 31 अक्तूबर को नगर कीर्तन वाघा बार्डर के रास्ते पाकिस्तान में प्रवेश करेगा और 1 नवम्बर को ऐतिहासिक गुरुद्वारा ननकाना साहिब में पहुंचेगा। वहीं पर नगर कीर्तन की समाप्त हो जाएगा।

PM मोदी- शी जिनपिंग वार्ता के लिए कड़ी निगरानी के बीच अंतिम दौर की हुई तैयारियां

इस मौके पर दिल्ली सहित देशभर से 1500 से अधिक लोग नगर कीर्तन के साथ पाकिस्तान जाएंगे। यह जानकारी आज यहां शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष परमजीत सिंह सरना एंव महासचिव हरविंदर सिंह सरना ने दी है। सरना ने नगर कीर्तन में शामिल होने के लिए देशभर की सिख संस्थाओं, सिंह सभाओं, धार्मिक पार्टियों, संगठनों एवं संगतों से अपील की है कि वह नगर कीर्तन में शामिल होकर इस ऐतिहासिक क्षण के गवाह बनें।  

CHINA: एक-दूसरे के लिए खतरा नहीं हैं चीन और भारत

सरना ने श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार द्वारा दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के 13 अक्तूबर को प्रस्तावित नगर कीर्तन पर रोक लगाने के फैसले का स्वागत किया है। साथ ही कहा कि यह फैसला गोलमोल और लचीला है। अकाल तख्त को इस झूठे खेल में शामिल सभी लोगों पर सख्त कार्रवाई करना चाहिए, लेकिन उन्होंने सिर्फ अकाली नेताओं का बचाव करने के लिए ड्रैमेज कंट्रोल किया है। 

व्यापार सुविधा में सहयोग बढ़ाकर ‘असंतुलन’ को दूर किया जा सकता है : चीन

संगतों के पैसों का पूरा हिसाब देगी कमेटी: कालका 
दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के महासचिव हरमीत सिंह कालका ने कहा है कि श्री अकाल तख्त साहिब के जथेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह के आदेशों को ध्यान में रखते हुए दिल्ली कमेटी ने श्री ननकाणा साहिब तक सजाये जाने वाला नगर कीर्तन फिलहाल स्थगित कर दिया है। कालका ने बताया कि संगत के पैसों का स्पष्टीकरण जो जथेदार साहिब ने देने के लिए कहा है, उसका पूरा हिसाब देंगे। पालकी साहिब का अलग अकांउट बनाया हुआ है और हम एक-एक पैसे का हिसाब देंगे। सोने की पालकी की सेवा दमदमी टकसाल के मुख्य बाबा हरनाम सिंह जी खालसा को सौंपी गई थी।

हरियाणा चुनाव के मद्देनजर में स्मृति ईरानी ने राबर्ट वाड्रा पर साधा निशाना

‘गुरुनानक के नाम पर सदी की सबसे बड़ी लूट’
शिअद दिल्ली के अध्यक्ष परमजीत सिंह सरना ने कहा कि दिल्ली गुरुद्वारा कमेटी के प्रबंधकों के पास नगर कीर्तन निकालने की पाकिस्तान सरकार की कोई मंजूरी नहीं थी और न ही मिलने की संभावना थी, बावजूद इसके नगर कीर्तन की आड़ में सिख संगतों को लूटते रहे।  यही नहीं, मासूम महिला सिख संगतों को भावनात्मक तरीके से ब्लैकमेल करके उनके शरीर से सोने के जेवरात उतरवा लिए गए। सरना ने कहा कि अकाली नेताओं ने गुरुनानक के नाम पर अब तक 15 से 16 करोड़ की नगदी वसूली कर चुके हैं। सोने के आभूषण की गिनती अभी नहीं हुई है। 

यौन शोषण के आरोपी चिन्मयानंद के समर्थन में आया अखाडा परिषद

जांच के लिए दिल्ली पुलिस और अकाल तख्त से लगाई गुहार
हरविंदर सिंह सरना ने इस लूट के भागीदार कमेटी प्रबंधकों व अन्यों के खिलाफ सख्त जांच करने की दिल्ली पुलिस की विशेष शाखा से जांच की मांग की है। इसके लिए वह दिल्ली पुलिस, दिल्ली सरकार का दरवाजा भी खटखटाएंगे। साथ ही श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह से भी गुहार लगाई है।

comments

.
.
.
.
.