Tuesday, Jul 23, 2019

मुठ्ठी भर मुसलमान ही अयोध्या में राम मंदिर बनाने के विरोधीःरामविलास वेदांती

  • Updated on 7/12/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। देश में राम के नाम पर राजनीति बंद करने का आह्वाण करते हुए श्रीराम जन्मभूमि न्यास (shree ram janmbhumi nyas) के सदस्‍य रामविलास वेदांती (ram vilas vedanti) ने मांग की है कि भव्य राम मंदिर (ram temple) बनाने के लिए मोदी सरकार (modi government) जल्द कोई रास्ता निकालें। उन्होंने दावा किया कि देश के लगभग 80 प्रतिशत मुसलमान भी अयोध्या में राम मंदिर को लेकर कोई आपत्ति नहीं जताते है। 

देश में शांति का संदेश फैलाने के लिए शुरू हुआ, गांधी-मंडेला शांति पुरस्कार

पाकपरस्त है सुन्नी वक्फ बोर्ड
बल्कि यह सुन्नी वक्फ बोर्ड में चंद बैठे मुठ्ठी भर लोग ही इसका विरोध करते है। जबकि वे लोग पाकिस्तान के आतंकवादियों के इशारे पर रणनीति तय करते है। उन्होंने कहा कि शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष ने उनसे व्यक्तिगत बातचीत में यह बात कही थी।     
हिंदुओं का सब्र का बांध टूटता जा रहा 

रामविलास वेदांती ने कहा कि हिंदू लोगों का सब्र का बांध टूटता जा रहा है। अब ज्यादा दिन तक इंतजार नहीं किया जा सकता। उन्होंने पीएम मोदी के सबका विश्वास का स्वागत करते हुए कहा कि इससे समाज में सामंजस्यता बढ़ने में मदद मिलेगी।

पूर्व फौजी बीजेपी के 'नेशन फर्स्ट' पॉलिसी से है प्रभावितः मनोज तिवारी

उन्होंने उच्चतम न्यायालय के भी 3 व्यक्ति के पैनल गठित करने का स्वागत करते हुए निर्णय की प्रक्रिया को तेज कराने की मांग की है। उन्होंने इस पैनल के सदस्य रविशंकर के उस बात का समर्थन किया कि जिसमें उन्होंने कहा था कि यदि मलेशिया में मंदिर टूटने पर फिर से बनाने के अदालत आदेश दे सकते है तो भारत में क्यों नहीं हो सकता।
 

मुसलमानों से की है अपील 
उन्होंने देश के मुसलमान से अपील की है कि वे लोग आगे बढ़कर हिंदू समाज को मंदिर बनाने की बाधा को दूर करने में सहयोग करें। जिससे सामाजिक समरसता कायम रहे। 


 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.