Friday, Apr 23, 2021
-->
owaisi controversial statement on ayodhya mosque ''''''''namaz'''''''' to offer prayers prshnt

अयोध्या की मस्जिद को लेकर ओवैसी के विवादित बयान, कहा- नमाज पढ़ना 'हराम', न दें चंदा

  • Updated on 1/29/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। अयोध्या (Ayodhaya) में एक ओर जहां भव्य और दिव्य राम मंदिर निर्माण (Ram Temple) कार्य जोरो पर है वहीं दूसरी ओर मस्जिद बनाने का काम भी प्रगति पर है। ऐसे में ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के मुखिया और हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने अयोध्या में बनने वाली मस्जिद को लेकर विवादित बयान दिया है। ओवैसी ने कहा है कि अगर कोई अयोध्या की मस्जिद में नमाज पढ़ता है तो वह हराम मानी जाएगी। ओवैसी के इस बयान के बाद कई लोगों ने नराजगी जाहिर कि है जिसमें मस्जिद ट्रस्‍ट के सचिव और इंडो इस्‍लामिक कल्‍चरल फाउंडेशन के अतहर हुसैन समेत कई मुस्लिम धर्मगुरु शामिल है।

Budget 2021: किसान आंदोलन को देखते हुए क्या सरकार करेगी किसानों के लिए कुछ नया?

डोनेशन देने और नमाज पढ़ने को बताया हराम
बता दें कि दक्षिण राज्य कर्नाटक के बीदर इलाके में सेव कॉन्स्टिटूशन सेव इंडिया के कार्यक्रम के दौरान ओवैसी ने ये कहा, जिसके बाद से ही लोगों में गुस्सा है। ओवैसी ने कहा अयोध्‍या के धन्‍नीपुर में बनने वाली मस्जिद इस्‍लाम के सिद्धांतों के खिलाफ है। इसलिए उसे मस्जिद नहीं कहा जा सकता, इसके अलावा ओवैसी ने कहा कि मस्जिद के निर्माण के लिए डोनेशन देना और वहां नमाज पढ़ना दोनों ही हराम हैं।

ओवैसी ने आगे कहा, मुनाफिकों की जमात जो बाबरी मस्जिद के बदले पांच एकड़ जमीन पर मस्जिद बनवा रहे हैं, वो मस्जिद नहीं बल्कि 'मस्जिद-ए-ज़ीरार' है और अयोध्या की मस्जिद को चंदा देना हराम है। कोई वहां चंदा न दें। अगर चंदा देना है तो बीदर में किसी अनाथ को चंदा दे दें।

बजट सत्र 2021ः राष्ट्रपति 26 जनवरी के दिन तिरंगे के अपमान को बताया दुर्भाग्यपूर्ण

लव जिहाद को लेकर भी केंद्र पर बरसे ओवैसी
कार्यक्रम में आयोध्या के मस्जिद के अलाव ओवैसी ने लव जिहाद को लेकर भी केंद्र सरकार पर निशाना साधा है, उन्होंने कहा, महात्मा गांधी, बाबासाहेब अंबेडकर और मौलाना आजाद के देश में लव जिहाद पर कानून पारित किया गया, कानून के विपरीत कानून बनाकर संविधान को बिगाड़ने की कोशिश की जा रही है।

पेट्रोल-डीजल की कीमतों में आए उछाल के बीच गहलोत सरकार का बड़ा फैसला, घटाया 2% वैट

खोले गए बैंक अकाउंट
बता दें ति अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए दुनिया भर से लोग दान कर रहे हैं। वहीं दूसरी ओर अयोध्या के रौनाही में मिली 5 एकड़ जमीन पर सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड मस्जिद, अस्पताल और इंडो इस्लामिक कल्चर सेंटर बनाएंगे और वक्फ बोर्ड ने भी ट्रस्ट का ऐलान कर दिया है ये ट्रस्ट लोगों से दान की अपील करेगा। श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की ओर से खोले गए बैंक अकाउंट की तरह वक्फ बोर्ड द्वारा निर्मित ट्रस्ट भी अकाउंट खोलेगा जिसमें दुनिया भर के लोग दान दे सकेंगे।

5 राज्यों में 5 हजार वैक्सीन डोज की हुई बर्बादी, कोवैक्सीन को हो रहा सीरम के मुकाबले ज्यादा नुकसान

दो बैंक अकाउंट होंगे जारी
बताया जा रहा है कि जल्द ही दो बैंक का अकाउंट जारी किए जाएंगे, जिसमें चंदे की रकम दान की जा सकेगी। सुन्नी वक्फ बोर्ड द्वारा गठित इंडो इस्लामिक कल्चर फाउंडेशन यह दो खाते खोलने जा रहा है। इन दो बैंक खातों में से एक खाता सिर्फ मस्जिद निर्माण के लिए धन जुटाएगा वहीं दूसरे बैंक खाते में मस्जिद परिसर में बनने वाले अस्पताल और रिसर्च सेंटर के लिए धन जमा किए जाएंगे।

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.