Wednesday, Jan 20, 2021

Live Updates: Unlock 8- Day 19

Last Updated: Tue Jan 19 2021 10:42 PM

corona virus

Total Cases

10,596,107

Recovered

10,244,677

Deaths

152,743

  • INDIA10,596,107
  • MAHARASTRA1,994,977
  • ANDHRA PRADESH1,648,665
  • KARNATAKA931,997
  • KERALA911,382
  • TAMIL NADU831,866
  • NEW DELHI632,821
  • UTTAR PRADESH597,238
  • WEST BENGAL565,661
  • ODISHA333,444
  • ARUNACHAL PRADESH325,396
  • RAJASTHAN314,920
  • JHARKHAND310,675
  • CHHATTISGARH293,501
  • TELANGANA290,008
  • HARYANA266,309
  • BIHAR258,739
  • GUJARAT252,559
  • MADHYA PRADESH247,436
  • ASSAM216,831
  • CHANDIGARH183,588
  • PUNJAB170,605
  • JAMMU & KASHMIR122,651
  • UTTARAKHAND94,803
  • HIMACHAL PRADESH56,943
  • GOA49,362
  • PUDUCHERRY38,646
  • TRIPURA33,035
  • MANIPUR27,155
  • MEGHALAYA12,866
  • NAGALAND11,709
  • LADAKH9,155
  • SIKKIM5,338
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS4,983
  • MIZORAM4,322
  • DADRA AND NAGAR HAVELI3,374
  • DAMAN AND DIU1,381
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
pak employees working in metro projects get paid less than chinese worker sohsnt

चीन को खुश करने के लिए इस हद तक जा पहुंचा पाकिस्तान, अपनों के साथ ही कर रहा सौतेला व्यवहार

  • Updated on 11/7/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। आर्थिक मंदी की मार झेल रहा पाकिस्तान (Pakistan) एक बार फिर इस दौर से उबरने के लिए चीन (China) के बिछाए जाल में फंस गया है। पाकिस्तान में बेरोजगारी का स्तर तेजी से बढ़ता जा रहा है। ऐसे में पाक सरकार की नजर चीनी निवेश पर टिकी हुई है। पाकिस्तान सरकार कई मौकों पर दावा कर चुकी है कि चीनी निवेश से स्थानीय लोगों के लिए रोजगार के अवसर पैदा होंगे।

दिवाली पर सामान के बहिष्कार से चीन को भारी नुकसान, भारत पर निकाल रहा ऐसे भड़ास

चीनी कर्मचारियों को स्थानीय लोगों से ज्यादा सैलरी
पाक सरकार के इस दावे की हकीकत कुछ दिनों के अंदर ही लोगों को नजर आने लगी है। पाकिस्तानी समाचार द न्यूज इंटरनेशनल की रिपोर्ट में कहा गया है कि पाकिस्तान में चीन की मदद से शुरू हुई मेट्रो में चीनी कर्मचारियों को स्थानीय लोगों की अपेक्षा ज्यादा सैलरी दी जा रही है। न्यूज में कहा गया है कि अपने ही देश के लोगों के साथ हो रहे इस भेदभाव से यहां कार्यरत पाकिस्तानी कर्मचारियों का धैर्य जवाब दे रहा है। उनकी शिकायत है कि चीनी स्टाफ को युआन में तनख्वाह दी जाती है जबकि स्थानीय लोगों को पाकिस्तानी रुपये में ही भुगतान किया जा रहा है।

अमेरिकी चुनाव में जो बाइडेन की जीत में छिपी है चीन की हार, ऐसे बढ़ेगी ड्रैगन की टेंशन

एक ही पद पर कार्यरत कर्मियों में भेदभाव
दरअसल, द न्यूज की एक रिपोर्ट ने इस संबंध में कई चौंका देने वाले खुलासे किया हैं। रिपोर्ट में बताया गया है कि बीते बुधवार तक एक चाइनीज युआन की कीमत 24 पाकिस्तानी रुपये के बराबर थी। इस हिसाब से ऑरेंज लाइन मेट्रो ट्रेन प्रोजेक्ट से जुड़े 93 चीनी कर्मचारियों की तनख्वाह का डेटा निकाला गया तो पता चला कि पाक कर्मियों की अपेक्षा तो उन्हें बहुत अधिक वेतन का भुगतान किया जा रहा है। इतना ही नहीं एक ही पद पर कार्यरत पाक कर्मी को चीनी कर्मी की तुलना में बहुत कम या यूं कहें की न के बराबर सैलरी दी जा रही है तो गलत नहीं होगा।

US Election: राष्ट्रपति चुनाव में जीत की तरफ बढ़ते जो बाइडन का क्या है भारतीय कनेक्शन?

नियुक्ति को लेकर उठे सवाल
ऑरेंज लाइन मेट्रो ट्रेन प्रोजेक्ट में काम करने वाले कर्मचारी उस वक्त हैरत में पड़ गए जब एक डाटा के तहत बताया गया कि चीन के डेप्युटी चीफ एग्जेक्यूटिव ऑफिसर को हर महीने 136,000 युआन का भुगतान किया जाता है जो पकिस्तानी रुपये में करीब 32 लाख की बड़ी धनराशि बैठती है। अब एक बड़ा सवालिया निशान यहां ये भी उठता है कि इस ग्रेड में तीन पद थे और तीनों पर चीनी नागरिकों की ही नियुक्ति कर दी गई। किसी भी पद के योग्य पाकिस्तानी कर्मचारियों को क्यों नहीं समझा गया।

SCO मीटिंग में होगा PM मोदी और जिनपिंग का सामना, आपसी टकराव के बीच दिलचस्प होगी मुलाकात

पाक सरकार कर्मचारियों ने की सैलरी बढ़ाने की मांग
चीनी कर्मचारियों के मुकाबले पाकिस्तानी कर्मचारियों के साथ हो रहे सौतेले व्यवहार का एक ओर उदाहरण देते हुए न्यूज ने बताया कि ऐसे 12 चीनी कर्मी हैं जो ट्रेन डिस्पैचर और ट्रेन क्रू के पद पर कार्यरत हैं। इसके लिए इन्हें 57,000 युआन जोकि पाकिस्तानी रुपये में करीब 13 लाख बैठते हैं हर महीने सैलरी के रूप में दिए जाते हैं। इनके मुकाबले पाकिस्तान के कर्मचारियों को कुछ भी नहीं दिया जा रहा है। ऐसे में अब पाक कर्मचारियों का धैर्य जवाब दे गया है और वे लगातार सरकार से सैलरी बढ़ाने की मांग कर रहे हैं, उधर पाक सरकार लगातार इन मांगों को अनदेखा कर रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.