Sunday, Sep 19, 2021
-->
pakistan becomes active after bloody conflict in galvan valley albsnt

चीन से खूनी संघर्ष के बाद पाकिस्तान सक्रिय, खुफिया मीटिंग करके बनाई रणनीति

  • Updated on 6/17/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। भारत और  चीन (China)के बीच गलवान घाटी में हुए खूनी संघर्ष के बाद पाकिस्तान एक बार फिर से सक्रिय हो गया है। दरअसल पाकिस्तान दो महाशक्ति के बीच की लड़ाई का फायदा उठाने की फिराक में जुट गया है। जिसको ध्यान में रखते हुए तकरीबन 2 साल बाद तीनों सेनाओं के प्रमुखों ने एक मीटिंग की है। जो आईएसआई के मुख्‍यालय में हुआ है।

चीन सीमा पर बढ़ते तनाव के बीच पीएम मोदी ने बुलाई 19 जून को सर्वदलीय बैठक

पाकिस्तान ने की खुफिया बैठक

माना जा रहा है कि भारत और चीन के विवाद को देखते हुए पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI पूरी पैनी निगाहें रखी हुई है। हालांकि पाकिस्तान ने साफ किया है कि इस मीटिंग का मकसद नियंत्रण रेखा और कश्‍मीर के हालात पर चर्चा करने को लेकर हुआ है। इस मीटिंग में पाकिस्‍तानी सेना के प्रमुख कमर जावेद बाजवा, नेवी चीफ जफर महमूद अब्‍बासी और वायुसेना प्रमुख मार्शल मुजाहिद अनवर खान हिस्सा लिया। वहीं पाकिस्‍तानी की सेना और आईएसआई के कई आला अधिकारी भी मौजूद रहे। भारत के साथ चीन के बढ़ते तनाव को ध्यान में रखते हुए पाकिस्तानी सेना भी अलर्ट हो गया है। जो भारत के साथ मौके की तलाश में जुट गई है। 

भारतीय जवानों की शहादत पर बोलीं प्रियंका गांधी, यह वक्त चीन का सामना करने का है

भारत और चीन के बीच हुआ विवाद

मालूम हो कि पूर्वी लद्दाख के गलवान घाटी में भारत और चीन के सेना के बीच खूनी संघर्ष हुए है। जिसमें भारत के 23 सेना शहीद हुए है। जबकि चीन के 40 सेना को नुकसान पहुंचने की बात कही जा रही है। हालांकि भारत ने सीमा पर जब से सड़क निर्माण को आगे बढ़ाया है तब से चीन ने इस पर आपत्ति जताई है। इसको लेकर पहली बार 5 मई को दोनों पक्षों के बीच हिंसक झड़पें भी हुई थी। लेकिन उसके बाद दोनों देशों के बीच कई बार बातचीत भी हुई। जिसमें आंशिक सफलता उस समय मिली जब दोनों देशों ने डेढ़ किमी पीछे हटने पर सहमति जताई। लेकिन इसके बाद भी यह संघर्ष होने से क्षेत्र में शांति को खतरा पैदा हो गया है।

comments

.
.
.
.
.