Friday, Jun 02, 2023
-->

रिपोर्ट का दावा, पाकिस्तान को विनाश की ओर धकेल रहा है आतंकवाद

  • Updated on 11/1/2017

Navodayatimesनई दिल्ली/टीम डिजिटल। भारत कई बार पाकिस्तान को आतंकवाद पर रोक लगाने के लिए कहता रहा है। भारत ने कई बार पाकिस्तान को चेताया है कि अगर उसने आतंकवाद को समर्थन देना बंद नहीं किया तो, उसके खिलाफ कड़ा रुख अपनाएगा। अब ऐसा ही चातावनी पाकिस्तान को एक बार फिर मिली है।  फ्रेजाइल स्टेट्स इंडेक्स की 2017 की रिपोर्ट में पाकिस्तान को उन असफल देशों की फेहरिस्त में शामिल किया है, जिन्हें अपनी सुरक्षा की चिंता करनी चाहिए। 

भूख से मर रहे लोग फिर भी Aadhar है अहम, Fingerprint मैच न होने पर नहीं मिला राशन

अब पाकिस्तान को समझना चाहिए की जिस आतंकवाद से वो भारत की नाक में दम करता था। वहीं खुद उसकी परेशानी का कारण बन गया है। 

अमेरिका ने भी दी चेतावनी 

अमेरिका ने भी पाकिस्तान को अतंकवाद को पनाह देने के लिए चेताया था, साथ ही अमेरिका ने आतंकवाद को अपनी जमीन से खत्म करने के लिए चेतावनी दी थी। अमेरिका ने प्रतिनिधि सभा में पाकिस्तान को आतंकवाद देश घोषित करने के लिए एक प्रस्ताव भी पेश किया था। 
अमेरिकी विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन जब भारत दौरे पर आए थो तो उन्होंने पाकिस्तान से आतंकी संगठनों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए कहा था। साथ ही ये भई कहा कि अगर वो ऐसा नहीं करता है तो अमेरिका खुद पाकिस्तान के खिलाफ कार्रवाई करेगा। इससे पहले अमेरिकी  राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था कि पाकिस्तान आतंकवादियों के लिए सुरक्षित ठिकाना बन गया है। 

43 साल के हुए 'वेरी वेरी स्पेशल' लक्ष्मण, ये हैं करियर के यादगार लम्हें

चीन ने भी अपनाया सख्त रुख  

चीन जो पहले पाकिस्तान का समर्थन करता था। अब उसने भी पाकिस्तान के लिए सख्ती शुरु कर दी है। हाल ही में बीजिंग में संपन्न हुए ब्रिक्स सम्मेलन  के संयुक्त घोषणा पत्र में पाकिस्तान के कई आतंकवादी संगठनों के नाम शामिल किए थे।  

पाकिस्तान पर 73 अरब डॉलर का कर्ज 

पाकिस्तान की जीडीपी दर तीन फीसदी है। इसे 73 अरब डॉलर का कर्ज चुकाना है। इसका निर्यात दिन प्रतिदिन घट रहा है जबकि आयात बढ़ रहा है। देश में शिक्षा प्रणाली भी खराब है। दुनिया भर से आतंकवादी प्रशिक्षण लेने के लिए पाकिस्तान पहुंच रहे हैं और बम बनाकर तबाही फैला रहे हैं। पाकिस्तान को अपनी शिक्षा प्रणाली के बदलने की जरुरत है। ताकि देश को पतन से बचाया जा सके। 

Navodayatimesरिपोर्ट में दी गई ये सलाह

पाकिस्तान को अपना रक्षा बजट कम करना चाहिए और शिक्षा, सवास्थ्य क्षेत्र पर अधिक राशी खर्च करना चाहिए। आईएसआई की ताकत को कम करना चाहिए और साथ ही सभी आतंकवादी प्रशिक्षण केंद्रों को नष्ट करना चाहिए। बाकी देशों को उससे जो भी शिकायते है उनका निवारण करना चाहिए।      

फिर महंगी हुई रसोई गैस, बिना सब्सिडी वाले सिलेंडर की कीमत में बड़ी बढ़त

फ्रेजाइल स्टेट्स इंडेक्स 2017 में  पाकिस्तान 18 वें स्थान पर है। देखा जाए तो पाकिस्तान की ऐसा हालत अपने आंतरिक बलों, बढ़ती आबादी, घटते जल संसाधन और बिगड़ती आर्थिक स्थितियों की वजह से हो रही है जो इसे विनाश की ओर ले जा रही है।   
2017 में ही पाकिस्तान को इन दिशाओं में सर्वाधिक सुधार करने वाला देश कहा गया था। अब ये सोचने वाली बात है कि पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा ज्यादा सुधार करने वाले इस देश की स्थिति इतनी खराब है। जबकि मोस्ट फ्रेजाइल स्टेट्स इंडेक्स 2017 की रिपोर्ट में कहा गया है कि ये सुधार सिर्फ वर्ष दर वर्ष के आधार पर है। पिछले वर्ष की तुलना में पाकिस्तान की  की स्थिति में सुधार है। हालंकि ये जरुरी नहीं है कि वो सस्टेनेबल सुधार की दिशा में भी वह अच्छा कर रहा हो। 

ये सब देखकर तो लगता है कि पाकिस्तान अपने विनाश की ओर बढ़ रहा है। अगर आतंकवाद देश पर पकड़ बना लेता है तो यह सिर्फ उसके लिए ही नहीं बल्कि विश्व के लिए खतरनाक साबित हो सकता है।   
              

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.