Monday, Jan 27, 2020
pakistan minister troll on social media on reply on post general naravane

सेना प्रमुख को धमकी दे ट्रोल हुए पाक मंत्री, यूजर्स ने कहा- sorry चौकीदार की पोस्ट खाली नहीं

  • Updated on 1/14/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। हाल ही में थल सेना के नए प्रमुख बने मनोज मुकुंद नरवाने ने जब से अपना पद ग्रहण किया है उसके बाद से पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (POK) को लेकर कई तरह के बयान दिए हैं। जिसके बाद बौखलाए पाकिस्तान के एक मंत्री मुश्ताक मिन्हास ने अपनी एक तस्वीर सोशल मीडिया पर शेयर की है।

इस तस्वीर में  मुश्ताक मिन्हास ने लिखा जनरल मनोज मुकंद नरवाने, हम इंतजार कर रहे हैं।उनके इस ट्वीट के बाद मुश्ताक मिन्हास सोशल मीडिया पर ट्रोल हो रहे हैं। एक यूजर ने कहा -सॉरी हमारे यहां चौकीदार की पोस्ट खाली नहीं है।
वहीं शहाब जाफरी ने लिखा- हम लोग जॉगर्स और ट्रैक सूट पहने अंकल को नहीं मारते हैं...।

आपको बता दें कि प्रेस कॉन्फ्रेंस में राजनीतिक नेतृत्व द्वारा PoK को भारत में शामिल करने को लेकर पूछे गए सवाल पर सेना प्रमुख ने कहा कि यह एक संसदीय संकल्प है कि संपूर्ण जम्मू- कश्मीर भारत का हिस्सा है। यदि संसद यह चाहती है तो उस क्षेत्र (PoK) को भी भारत में होना चाहिए। जब हमें इस बारे में कोई आदेश मिलेंगे तो हम उचित कार्रवाई करेंगे।

सेना को सीमा पर पाकिस्तान और चीन की ओर से मिल रही चुनौतियों के बारे में पूछे जाने पर नरवाने ने कहा कि हम उन्हें उचित जवाब देने में सक्षम हैं। इंटेलिजेंस इनपुट और सेना की तत्परता से हम हमेशा उनके साजिश को नाकाम करने में सफल रहते हैं। 

नरवाने पहले भी भारतीय सेना द्वारा सीमा पार जाकर सेना की कार्रवाई की बात कर चुके हैं। सेना प्रमुख का पदभार ग्रहण करने के कुछ घंटे बाद जनरल नरवाने ने साक्षात्कार में कहा था कि भारत को आतंकी खतरे वाले स्रोतों पर एहतियातन हमला करने का अधिकार है। उन्होंने कहा अगर पाकिस्तान, राज्य प्रायोजित आतंकवाद की अपनी नीति को नहीं रोकता है तो हमारे पास ऐसी स्थिति में आतंक के खतरे वाले स्रोतों पर हमला करने का अधिकार है और सर्जिकल स्ट्राइक तथा बालाकोट अभियान के दौरान हमारे जवाब में इस सोच की पर्याप्त झलक मिल चुकी है।'

नरावने अब तक अपने जीवन के 37 वर्ष भारतीय सेना की सेवा में गुजार चुके हैं। उन्हें आतंकवाद रोधी इलाकों में काम करने का खास अनुभव है। उन्होंने इस दौरान अपनी जिम्मेदारी पूरे अनुशासित तरीके से संभाली। वे जम्मू- कश्मीर में राष्ट्रीय राइफल्स बटालियन के अतिरिक्त पूर्वी मोर्चे पर सेना ब्रिगेड का पदभार संभाल चुके हैं। इसके अलावा वे श्रीलंका में भारतीय शांति रक्षा सेना का हिस्सा भी रह चुके हैं।  

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.