Monday, May 10, 2021
-->
pakistan-repeating-lies-on-jammu-kashmir-india-slams-article-in-chinese-paper-prsgnt

पाकिस्तान ने लगाई चीन से जम्मू-कश्मीर के लिए गुहार, भारत से मिला मुंहतोड़ जवाब...

  • Updated on 8/13/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। पाकिस्तान ने कश्मीर मुद्दे पर इंटरनेशनल कोर्ट में मुंह की खाई लेकिन फिर भी उसे सब्र न हुआ और वो चीन के पास जा कर गुहार लगाने लगा। इस बारे में अब चीन के मुख्य अखबार ग्लोबल टाइम्स में एक लेख प्रकाशित हुआ है, जो इस बात का सबूत है कि पाकिस्तान चाहता है कि चीन उसकी मदद करें।

दरअसल, ग्‍लोबल टाइम्‍स में पाकिस्‍तान के राजदूत मोइन-उल-हक का एक आर्टिकल पब्लिश हुआ है। जिसमें उन्होंने जम्‍मू-कश्‍मीर का मसला बड़े ही विस्तार से उठाया है। बताया जा रहा है कि ग्लोबल टाइम्स को दिए अपने एक इंटरव्यू में पाकिस्तान के राजदूत मोइन- उल-हक ने जम्मू-कश्मीर के मसले के बारे में बात की है।

उन्होंने इस इंटरव्यू में भारत से आर्टिकल 370 के तहत जम्मू और कश्मीर के विशेष दर्जे को समाप्त करने और उसके एक साल होने पर कश्मीरी लोगों के दर्द को कम करने के लिए वैश्विक रूप से कार्रवाई करने की गुहार लगाई है।

भारत के खिलाफ पाकिस्तान की मदद कर रहा है चीन! पाक को दे रहा है ये घातक हथियारों से लैस ड्रोन

वहीँ, इस मसले के सामने आते ही भारतीय राजदूत की तरफ से पाकिस्तान को करारा जवाब दिया है।  भारतीय राजदूत की तरफ से बयान जारी कर कहा गया है कि जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाया जाना, भारत का आंतरिक मामला है। इसमें पाकिस्तान और बाकी दुनिया के देशों को किसी भी तरह का दखल देने का कोई अधिकार नहीं है।

भारतीय राजदूत ने कहा, जम्मू-कश्मीरवासियों के मानवाधिकारों की दुहाई देने वाले पाकिस्‍तानी राजदूत मोइन-उल-हक को पहले अपने गिरेबान में झांककर देखना चाहिए कि पाकिस्‍तानी सेना कैसे अपने कब्‍जे वाले इलाकों में रह रहे बेगुनाह लोगों को परेशान करती रहती है।

स्‍वतंत्रता दिवस समारोह के लिए सरकार ने जारी की एडवाइजरी, ये होंगे नियम...

उन्होंने ये भी कहा कि पाकिस्तान को 370 हटाये जाने की इसलिए ज्यादा तकलीफ है क्योंकि अब पाकिस्तान के आतंकियों को कश्मीर में घुसने की जगह नहीं मिल रही है। जबकि जम्मू-कश्मीर में अब 370 हटाने के बाद स्‍वास्‍थ्‍य और शिक्षा के इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर और मौकों में बढ़ोतरी हुई है।

यहां पढ़ें भारत-चीन विवाद से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.