Sunday, Sep 19, 2021
-->
pakistan''''''''s drone seen on the international border in jammu musrnt

बॉर्डर पर नजर आए पाकिस्तान के ड्रोन, BSF जवानों ने गोलियां बरसाई

  • Updated on 7/2/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) ने अंतरराष्ट्रीय सीमा से भारतीय क्षेत्र में घुसने का प्रयास कर रहे एक संदिग्ध पाकिस्तानी निगरानी ड्रोन पर शुक्रवार को गोलीबारी की। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि बीएसएफ के सतर्क जवानों ने तड़के चार बजकर 25 मिनट पर जम्मू के बाहरी क्षेत्र में स्थित अरनिया सेक्टर में संदिग्ध ड्रोन को देखा। इसे गिराने के लिए सीमा सुरक्षा बल के जवानों ने आधा दर्जन गोलियां चलाई जिसके बाद ड्रोन पाकिस्तान की ओर लौट गया।

ड्रोन हमले पर भारत ने UN में जताई चिंता, झूठी खबरें फैलाने के लिए PAK को लताड़ा

बीएसएफ के प्रवक्ता ने बताया, ‘बल के चौकन्ना जवानों ने आज अरनिया सेक्टर में अंतरराष्ट्रीय सीमा पार करने का प्रयास कर रहे पाकिस्तान के एक छोटे ड्रोन पर गोलीबारी की। गोलीबारी की वजह से ड्रोन तुरंत ही लौट गया।’ उन्होंने बताया कि ड्रोन इलाके की निगरानी करने के लिए आया था।

रविवार को यहां स्थित भारतीय वायुसेना के स्टेशन पर ड्रोन हमले के बाद से जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा बल हाई अलर्ट पर हैं। तब जम्मू हवाई अड्डा परिसर में स्थित वायुसेना स्टेशन पर विस्फोटकों से लदे ड्रोन गिराए गए थे। अधिकारियों का कहना था कि ऐसा शायद पहली बार हुआ है कि पाकिस्तान के संदिग्ध आतंकवादियों ने हमले में मानवरहित यान का इस्तेमाल किया है। इसके बाद सोमवार, मंगलवार और बुधवार को भी जम्मू के विभिन्न इलाकों में रात के वक्त महत्वपूर्ण सैन्य प्रतिष्ठानों के ऊपर ड्रोन उड़ते नजर आए थे।

सरकार ने जम्मू वायुसेना स्टेशन पर हुए ड्रोन हमले की जांच NIA को सौंपी

इससे पहले सेना मुख्यालय को निशाना बनाने के लिए भेजे गए ड्रोन को लेकर कड़ा रुख अपनाते हुए भारत ने संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान को लताड़ लगाई थी। सामरिक एवं व्यावसायिक संपत्तियों के खिलाफ आतंकवादी गतिविधियों के लिए हथियारों के रूप में ड्रोनों के प्रयोग की आशंका पर वैश्विक समुदाय को गंभीरता से ध्यान देने की जरूरत है। भारत ने जम्मू हवाईअड्डे पर विस्फोटकों से भरे दो ड्रोनों के भारतीय वायुसेना (आईएएफ) स्टेशन में दुर्घटनाग्रस्त होने के दो दिन बाद संयक्त राष्ट्र महासभा में यह बात कही और झूठी खबरें फैलाने के लिए पाकिस्तान को लताड़ लगाई। 

ड्रोन की मदद से सैन्य संस्थापन पर हमले की नयी कोशिश को रत्नुचक-कालुचक अड्डे पर चौकन्ने सैन्य संतरियों द्वारा नाकाम कर दिया गया था जिन्होंने मानवरहित हवाई वाहनों पर गोली चलाई तो वे वहां से उड़कर दूसरी जगह चले गए। इस घटना से कुछ देर पहले भारतीय वायुसेना के एक केंद्र पर पहली बार क्वाडकॉप्टरों (ड्रोन) का इस्तेमाल कर आतकंवादी हमला किया गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.