US: आतंकी संगठन का समर्थन करने पर पाकिस्तानी को हुई 7 साल की सजा

  • Updated on 12/2/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। अमेरिका में एक पाकिस्तानी व्यक्ति को अलकायदा से जुड़े आतंकी संगठन जब्हात अल-नुसरा को सहायता, समर्थन और संसाधन पहुंचाने की कोशिश के आरोप में सात साल कारावास की सजा सुनाई गई है।      

उत्तरी कैरोलीना के रहने वाले बासित जावेद शेख (39) को निगरानी में रखे जाने के बाद 84 महीनों की सजा सुनाई गई है। शेख ने इसी साल अगस्त में अपना जुर्म स्वीकार कर लिया था। बासित का जन्म अमेरिका में नहीं हुआ है लिहाजा उसे अमेरिका से बाहर रखा जा सकता है। बासित बरसों से वैध स्थायी निवासी के तौर पर अमेरिका में रह रहा है।   

Pak मंत्री का नापाक बयान, हाफिज सईद चाहिए तो अजीत डोभाल को करो पाकिस्तान के हवाले   

अभियोजन के हलफनामे में 2013 में बासित की कई फेसबुक पोस्ट का जिक्र किया गया है, जो उसके जब्हात अल नुसरा के प्रति समर्थन को दर्शाते हैं। पोस्ट करते हुए बासित को यह पता था कि अमेरिका जब्हात अल नुसरा को आतंकी संगठन के रूप में नामित कर चुका है।      

अमेरिका के उत्तरी कैरोलीना के अटॉर्नी कार्यालय ने कहा कि हलफनामे में दी गई जानकारी के मुताबिक शेख ने फेसबुक का इस्तेमाल इस्लामी चरमपंथ की हिंसक विचारधारा के प्रचार के लिये किया।      

महबूबा मुफ्ती ने PM मोदी को लिखा खत, सामने रखी ये मांग

शेख एक व्यक्ति को जब्हात अल नुसरा का सदस्य समझकर उसके पास गया था और उससे ‘‘मुजाहिदीन’’ को किसी भी तरह की मदद देने के लिए सीरिया जाने की इच्छा जताई थी। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.