Monday, Nov 28, 2022
-->
pakistani terrorist organization troubled by heightened vigil started technique online prshnt

बॉर्डर पर बढ़ी कड़ी चौकसी से परेशान हुए पाकिस्तानी आतंकी संगठन, ऑनलाइन शुरू की ये तकनीक

  • Updated on 1/4/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। भारत-पाकिस्तान (India-Pakistan) सीमा पर सुरक्षा बलों की तैनाती कड़ी करने से आतंकी खौफ में है। सुरक्षा बलों की चौकसी बढ़ाने से पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी और आतंकवादी समूह अब साइबर और मोबाईल स्पेस का इस्तेमाल कर आतंकवाद को बढ़ावा देने की कोसिस में जुटे है और जम्मू-कश्मीर(Jammu and Kashmir) में आतंकियों की भर्ती कर रहे हैं। दरअसल सीमा पर बढ़ते सुरक्षा के चलते आतंकी संगठन आपस में आमने-सामने संपर्क नहीं कर पा रहे हैं। 

दरअसल अधिकारियों ने बताया कि खुफिया सूचनाओं और तकनीकी निगरानी पता चला है कि नये लोगों को आतंकी संगठन में शामिल करने के लिए उनकी भावनाओं को भड़काने के लिए झुठे वीडियों का इस्तेमाल कर रहे हैं, वे पाकिस्तान के आईएसआई हैंडलर सुरक्षा बलों द्वारा किए गए अत्याचारों के फर्जी वीडियो के लोगों तक पहुंचा रहे हैं। 

राजस्थान: CM के सामने लगे 'सचिन पायलट जिंदाबाद' के नारे, भड़के गहलोत

सुरक्षा एजेंसियों की कड़ी चौकसी से बढ़ी आतंकियों की परेसानी
इससे पहले आतंकवाद समर्थक लोग आतंकवादी संगठनों में नए लोगों को शामिल करने के लिए उनसे आमने सानने मुलाकात करते थे। लेकिन अब सुरक्षा एजेंसियों की कड़ी चौकसी के कारण इन लोगों को अपने तरीके में बदलाव करना पड़ा। सेना ने इस साल 2020 में 203 आंतकवादियों का सपाया किया है जिसमें 166 स्थानीय आंतकी भी सामिल थे। वहीं घाटी में 43 आम लोग भी मारे गए वहीं 92 लोग घायल हुए।

हमने कांग्रेस की तुलना में दोगुनी खरीद की MSP था, है और रहेगा : अनुराग ठाकुर

साल 2020 में 49 आतंकवादी गिरफ्तार
बता दें कि साल 2020 में 49 आतंकवादियों को गिरफ्तार किया और नौ आतंकवादियों ने आत्मसमर्पण भी किया। इन सबके पिछे संयुक्त सुरक्षा ग्रिड में काम कर रही सेना, पुलिस और केरिपुब के समन्वित प्रयासों का नतीजा है। 

2020 में आतंकवाद संबंधी 96 घटनाएं हुईं, जिसमें 43 नागरिकों की भी जान गई जबकि 92 अन्य घायल हो गए। आंकड़ों के मुताबिक गायल नागरिकों की संख्या में 2019 के मुकाबले कमी आई है, पिछले साल जहां 47 नागरिकों की मौत हुई थी और 185 अन्य घायल हुए थे। साल 2020 में 14 आईईडी बरामद की गईं जबकि 2019 में 36 आईईडी बरामद की गईं थीं। 

डॉ हर्षवर्धन ने कहा- कोरोना वैक्सीन पर शर्मनाक है अखिलेश, थरूर और जयराम की सियासत

हाल ही में सुरक्षा बलों पर फेंका ग्रेनेड
बता दें कि जम्मू कश्मीर में आतंकियों ने सुरक्षा बलों पर हमला कर दिया। आतंकवादियों ने पुलवामा जिले  के त्राल बस स्टैंड पर सुरक्षा बलों पर ग्रेनेड फेंका है। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि आतंकवादियों ने दक्षिण कश्मीर के इस जिले में त्राल बस स्टैंड पर सुरक्षा र्किमयों की ओर ग्रेनेड फेंका था। ग्रेनेड निशाने पर नहीं लगा तथा बाजार में फट गया। इसकी चपेट में आकर कम से कम छह आम नागरिक घायल हो गए। 

अधिकारी ने बताया कि घायलों को अस्पताल ले जाया गया। उन्होंने बताया कि इलाके की घेराबंदी कर दी गई है और हमलावरों को पकड़ने के प्रयास किए जा रहे हैं। इस हमले में सात नागरिक घायल हो गए। जम्मू- कश्मीर पुलिस के मुताबिक पुलवामा जिले के त्राल में हुए ग्रेनेड हमले में सात नागरिकों को मामूली चोटें आई हैं। सभी घायलों की स्वास्थ्य स्थिति स्थिर है।

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें...

comments

.
.
.
.
.