Saturday, Jul 31, 2021
-->
pamela-drugs-case-calcutta-high-court-gives-blow-to-bjp-leader-rakesh-singh-rkdsnt

पामेला ड्रग्स मामला : भाजपा नेता राकेश सिंह को कलकत्ता हाई कोर्ट ने दिया झटका 

  • Updated on 2/23/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। कलकत्ता उच्च न्ययालय ने मंगलवार को भाजपा नेता राकेश सिंह की वह याचिका खारिज कर दी, जिसके जरिए उन्होंने ड्रग्स मामले के सिलसिले में पुलिस के एक नोटिस को रद्द करने का अनुरोध किया था। पुलिस ने सिंह को यह नोटिस ड्रग्स मामले के सिलसिले में उसके समक्ष पेश होने के लिए जारी किया था। 

उत्तर पूर्वी दिल्ली दंगों पर अल्पसंख्यक आयोग की फैक्ट फाइंडिंग रिपोर्ट के खिलाफ याचिका

भाजपा की युवा शाखा (भारतीय जनता युवा मोर्चा) की कार्यकर्ता पामेला गोस्वामी ने ड्रग्स मामले में सिंह का नाम लिया था। पामेला के थैले और कार से 90 ग्राम कोकीन बरामद होने के बाद उसे पिछले सप्ताह गिरफ्तार कर लिया गया था। भाजयुमो की प्रदेश सचिव पामेला ने आरोप लगाया था कि सिंह ने उसे फंसाने की साजिश रची है। 

पामेला ड्रग्स मामला : भाजपा नेता राकेश सिंह पर लटकी गिरफ्तारी की तलवार 

अदालत के आदेश के बाद कोलकाता पुलिस सिंह के आवास के अंदर घुसी। इससे पहले, सिंह के परिवार ने पुलिस को आवास में प्रवेश करने से रोक दिया था।  सिंह ने पुलिस के नोटिस पर स्थगन आदेश के लिए उच्च न्यायालय का रुख किया था। सिंह के वकीलों ने दलील दी कि उनके भाजपा में शामिल होने के बाद से उनके खिलाफ कम से कम 26 मामले दर्ज किये गए हैं। 

किसान महापंचायत में योगेंद्र बोले- आने वाली पीढ़ी के लिए दरवाजे बंद कर देंगे नये कृषि कानून

 

यूपी के शाहजहांपुर में अधजली, नग्न अवस्था में मिली स्नातक की छात्रा

वहीं, पश्चिम बंगाल सरकार राज्य की ओर से पेश हुए महाधिवक्ता किशोर दत्ता ने कहा कि सिंह के इस राजनीतिक दल में शामिल होने से पहले से उनके खिलाफ 56 मामले लंबित हैं और इस विषय का कोई राजनीतिक संबंध नहीं है। जस्टिस सव्यसाची भट्टाचार्य ने दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद सिंह की याचिका खारिज कर दी।  

अमित शाह के खिलाफ मानहानि मामले को विशेष अदालत ने मजिस्ट्रेट अदालत भेजा

 

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें... 

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.