parking-charge-payment-delhi-metro-smart-card

दिल्ली: अब मेट्रो स्मार्ट कार्ड से दे सकेंगे पार्किंग शुल्क, जानें कैसे होगा ये संभव

  • Updated on 9/11/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। दिल्ली मेट्रो (Delhi Metro) स्मार्ट कार्ड (Smart Card) का उपयोग करने वाले लोगों को एक और सुविधा इस कार्ड के माध्यम से मिलने जा रही है। अब इस कार्ड का इस्तेमाल पार्किंग शुल्क (Parking Charge) देने के लिए भी किया जा सकेगा। इस कार्ड में पहले से ही डीटीसी बसों (DTC Bus) का किराया देने की सुविधा उपलब्ध है। 

सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त पर्यावरण प्रदूषण (रोकथाम और नियंत्रण) प्राधिकरण की बैठक में मेट्रो कार्ड द्वारा पार्किंग शुल्क अदा किए जाने को लेकर चर्चा हुई। बताया जा रहा है कि इसके लिए प्राधिकरण पार्किंग अटेंडेंट की स्कैनिंग डिवाइस में बदलाव करने की तैयारी में है। जिससे आमजन मेट्रो कार्ड से ही पार्किंग शुल्क अदा कर सकें। 

खुशखबरी! एक ही Smart Card से करें नोएडा-ग्रेनो मेट्रो में यात्रा

पार्किंग में करना होगा स्मार्ट कार्ड स्वैप
इस योजना से दिल्ली के लाखों लोगों को लाभ होगा। लोग एक ही कार्ड के जरिए मेट्रो का किराया, डीटीसी बसों का किराया और पार्किंग शुल्क दे सकेंगे। मेट्रो कार्ड से पार्किंग शुल्क देने के लिए पार्किंग में एंट्री करते ही स्मार्ट कार्ड स्वैप करना होगा। उसके बाद पार्किंग से निकलते समय स्मार्ट कार्ड को दोबारा स्वैप करना होगा।

अब जल्द ही कर सकेंगे DTC की बसों में मेट्रो स्मार्ट कार्ड का इस्तेमाल

मेट्रों की तर्ज पर तैयार होगी तकनीक 
ऐसा करने से समय के अनुसार पार्किंग शुल्क कट जाएगा। ये तकनीक बिलकुल मेट्रों की तर्ज पर तैयार की जाएगी। मेट्रो की ही तरह पार्किंग में एंट्री करते समय यात्री का डाटा मशीन के सर्वर में रिकॉर्ड हो जाएगा। इसके बाद बाहर निकलते समय कार्ड स्वैप करने पर डाटा के अनुसार पार्किंग शुल्क कट जाएगा। बताया जा रहा है कि इस सुविधा का लाभ अगले 6 माह तक लोगों को मिल सकेगा। 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.