अच्छे चुनाव परिणामों के लिए पार्टियां लेने लगीं ‘वास्तु का सहारा’

  • Updated on 11/16/2018

मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनावों के लिए तैयारी के चलते भाजपा तथा कांग्रेस कोई भी अवसर छोडऩा नहीं चाहतीं, जिनमें वास्तु विशेषज्ञों का सहारा लेना भी शामिल है। कांग्रेस, जो राज्य में गत 14 वर्षों से सत्ता से बाहर है, द्वारा अपने राज्य मुख्यालय से ‘वास्तु दोष’ हटाने के बाद अब भाजपा ने एक वास्तु विशेषज्ञ की सलाह पर अपने मुख्यालय के गेट के नजदीक बने एक सिक्योरिटी कैबिन को गिरवा दिया है। 

भाजपा द्वारा राज्य मुख्यालय का नवीनीकरण
अपनी सत्ता को बनाए रखने तथा पार्टी के भीतर विद्रोह को दबाने के लिए एक वास्तु विशेषज्ञ की सलाह पर राज्य मुख्यालय का नवीनीकरण किया जा रहा है। इसके एक हिस्से के तौर पर सिक्योरिटी कैबिन को तोड़ कर प्रवेश द्वार के ठीक नजदीक पानी का एक टैंक बनाया गया है। 

इस जगह का इस्तेमाल पानी के टैंक के लिए ही किया जाता था जब 2003 में उमा भारती मुख्यमंत्री थीं। मगर बाद में इसे 
सुरक्षा दस्तों के लिए रास्ता बनाने तथा सुरक्षा कर्मियों हेतु एक कमरा निर्मित करने के लिए गिरा दिया गया था। 

जब पार्टी सदस्यों ने वास्तु विशेषज्ञों से सलाह की तो उन्होंने कहा कि एक वाटर टैंक बनाने से सबसे कठिन चुनावों में से एक में पार्टी का भविष्य संवारने में मदद मिलेगी, जहां 3 बार मुख्यमंत्री रहे शिवराज सिंह चौहान को सत्ता विरोधी लहर का सामना करना पड़ रहा है।

भोपाल से सांसद तथा भाजपा प्रवक्ता आलोक संजर ने कहा कि वास्तु हर किसी की जरूरत है और उन्होंने यह भी कहा कि पार्टी परम्पराओं में विश्वास करती है। पानी के टैंक के निर्माण हेतु व्यापक प्रबंध किए गए थे, जिस दौरान कई पंडितों तथा साधुओं ने मंत्रोच्चारण करके उस अवसर को आध्यात्मिक बना दिया।

कांग्रेस ने भी तीन शौचालयों को हटा दिया था
इससे पहले कांग्रेस ने भी वास्तु शास्त्र विशेषज्ञों से सलाह करने के बाद राज्य की राजधानी भोपाल स्थित अपने कार्यालय इंदिरा भवन के भूतल पर प्रवक्ताओं के कमरे के पास बने तीन शौचालयों को हटा दिया था।                   ---ए. शर्मा

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख (ब्लाग) में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं। इसमें सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं। इसमें दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार पंजाब केसरी समूह के नहीं हैं, तथा नवोदय टाइम्स (पंजाब केसरी समूह) उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.