Friday, Oct 07, 2022
-->
patanjali ayurved launches new medicine of corona virus baba ramdev pragnt

पतंजलि ने फिर लॉन्च की कोरोनिल, स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन और नितिन गडकरी भी रहे मौजूद

  • Updated on 2/19/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। कोरोना वायरस (Coronavirus) की शुरुआत में 'कोरोनिल' (Coronil) पेश करने वाले योग गुरू बाबा रामदेव (Baba Ramdev) ने कोरोना की नई दवा लॉन्च कर दी है। आज एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान अपनी दवा को लॉन्च करते हुए बाबा राम देव ने कहा कि पहले भी और अभी भी कोरोनिल लाखों लोगों को जीवनदान दे रही है। ऐसे में अब हमने जो दवा लॉन्च की है ये भी कोरोना में काफी लाभकारी होने वाली है। बता दें कि इस नई दवा का नाम भी कोरोनिल टैबलेट ही रखा गया है। 

East Ladakh में चीनी सेना की वापसी पहुंची अंतिम चरण में, हटाए जा रहे बंकर

ये लोग थे मौजूद
इसके साथ ही उन्होंने बताया कि कोरोनिल को आयुष मंत्रालय ने कोरोना की दवा के रूप में स्वीकार कर लिया है। आपको बता दें कि नई दवा के लॉन्च के मौके पर योगगुरू बाबा रामदेव के साथ केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी भी मौजूद थे। 

‘आत्मनिर्भर भारत’ के निर्माण में नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति अहम पड़ावः PM मोदी

WHO से है सर्टिफाइड
बाबा राम देव ने आगे कहा कि हमारी इस दवा को विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी सर्टिफाइड कर दिया है। इसके साथ ही उन्होंने ये भी दावा किया कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने इसे GMP यानी 'गुड मैनुफैक्‍चरिंग प्रैक्टिस' का सर्टिफिके‍ट दिया है। 

कश्मीर में मुठभेड़ में तीन आतंकी ढेर, दो पुलिसकर्मी शहीद

कुछ लोगों को है आर्युवेद पर शक
बाबा रामदेव ने आगे कहा कि  कोरोना काल में कोरोनिल लाखों लोगों के काम आई है तो वहीं कुछ लोगों ने इस पर सवाल भी उठाए है। यहां के लोगों के मन में ये रहता है कि किसी भी दवा पर रिसर्च सिर्फ विदेश में हो सकती है भारत में नहीं खास तौर पर जब बात आर्युवेद की हो। आर्युवेद की रिसर्च पर लोगों को शक होता है इसलिए हमने इस बार सारे शक के बादल को हटाते हुए रिसर्च पेपर भी पेश किए हैं।

कश्मीर में मुठभेड़ में तीन आतंकी ढेर, दो पुलिसकर्मी शहीद

ऐसे मिलती है दवा को मार्केट में लाने की अनुमति
किसी भी दवा को बाजार में लाने से पहले उस दवा को बनाने वाले व्यक्ति, संस्था आदि को भारत में कई चरणों से गुजरना पड़ता है। इसे ड्रग अप्रूवल कहा जाता है। अप्रूवल में क्लिनिकल ट्रायल के लिए आवेदन करना, क्लिनिकल ट्रायल कराना, मार्केटिंग ऑथराइजेशन के लिए आवेदन करना और पोस्ट मार्केटिंग स्ट्रेटजी जैसे कई प्रोसेस पूरे करने होते हैं।यहां बता दें कि आयुर्वेदिक दवाओं और एलोपैथी दवाओं के अप्रूवल प्रोसेस में थोड़ा ही अंतर है। आयुर्वेदिक दवाओं में किसी रेफरेंस यानी किसी के आधार पर दवा बनाई जा रही है ये बता कर आसानी से अप्रूवल लिया जा सकता है जबकि अगर उसमें भी एलोपैथी की तरह लैब, फोर्मुलास की जरूरत होती है तो इसे स्टेप बाय स्टेप पूरा करना होता है।

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें... 

comments

.
.
.
.
.