Tuesday, May 26, 2020

Live Updates: 63rd day of lockdown

Last Updated: Tue May 26 2020 03:15 PM

corona virus

Total Cases

146,208

Recovered

61,052

Deaths

4,187

  • INDIA7,843,243
  • MAHARASTRA52,667
  • TAMIL NADU17,082
  • GUJARAT14,468
  • NEW DELHI14,465
  • RAJASTHAN7,376
  • MADHYA PRADESH6,859
  • UTTAR PRADESH6,497
  • WEST BENGAL3,816
  • ANDHRA PRADESH2,886
  • BIHAR2,737
  • KARNATAKA2,182
  • PUNJAB2,081
  • TELANGANA1,920
  • JAMMU & KASHMIR1,668
  • ODISHA1,438
  • HARYANA1,213
  • KERALA897
  • ASSAM549
  • JHARKHAND405
  • UTTARAKHAND349
  • CHHATTISGARH292
  • CHANDIGARH266
  • HIMACHAL PRADESH223
  • TRIPURA198
  • GOA67
  • PUDUCHERRY49
  • MANIPUR36
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS33
  • MEGHALAYA15
  • NAGALAND3
  • ARUNACHAL PRADESH2
  • DADRA AND NAGAR HAVELI2
  • DAMAN AND DIU2
  • MIZORAM1
  • SIKKIM1
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
pauper pakistan created a new strategy of war against india musrnt

कंगाल पाकिस्तान ने बनाई भारत के खिलाफ जंग की नई रणनीति

  • Updated on 5/16/2020

जम्मू-पुंछ/बलराम-धनुज। आर्थिक तौर से बेहद कमजोर हो चुके पाकिस्तान ने भारत के खिलाफ अपनी रणनीति में भारी बदलाव किया है। पिछले काफी समय से पाक अधिकृत कश्मीर स्थित शिविरों में शस्त्र प्रशिक्षण प्राप्त आतंकवादियों की भारतीय क्षेत्र में घुसपैठ करवाने में नाकाम रहे पाकिस्तान ने अपने पूर्व सैनिकों को 10-10 कनाल जमीन देकर नियंत्रण रेखा पर बसाना तेज कर दिया है ताकि आतंकवादियों को रिहायशी क्षेत्रों में शरण देकर भारत की सर्जिकल स्ट्राइक के खतरे से बचाया जा सके।

एयर स्ट्राइक के खतरे के मद्देनजर नियंत्रण रेखा पर एंटी एयरक्राफ्ट गनें तैनात की गई हैं। गुमराह करने के लिए रिहायशी इलाकों में मोर्टार लांचर (गन) तैनात किए गए हैं और लोगों की धार्मिक भावनाएं भड़कानें के लिए शाम को इफ्तार के समय गोलाबारी की जाती है।

कोरोना की आड़ में पाक POK के लोगों पर ढा रहा है जुल्म, लोग बोले- क्या हम इंसान नहीं? 

पूर्व सैनिकों को 10-10 कनाल जमीन देकर नियंत्रण रेखा पर बसाया 
पाकिस्तानी सेना को इस बात की भी आशंका है कि भारतीय सेना द्वारा नियंत्रण रेखा के पास लांचिंग पैड पर घुसपैठ की फिराक में बैठे आतंकवादियों पर सर्जिकल अथवा एयर स्ट्राइक की जा सकती है। इसलिए उसने अपने पूर्व सैनिकों को नियंत्रण रेखा से सटे बांडी, अब्बासपुर और आबाद किरनी जैसे इलाकों में 10-10 कनाल जमीन अलॉट करके बसा दिया। अब इन पूर्व सैनिकों के घर आतंकवादियों के लिए शरणस्थली का काम करते हैं। इन आतंकवादियों के उपचार के लिए इन इलाकों में छोटे- छोटे अस्पताल भी स्थापित किए जा रहे हैं जिनमें छोटी सर्जरी तक की सुविधा है। 

पाक के गिलगित-बाल्टिस्तान में चुनाव कराने के आदेश पर भारत ने जताई आपत्ति, कहा- अवैध कब्जे...

भुखमरी की कगार पर आतंकी संगठन
बेशक, एफ.ए.टी.एफ. (फाइनांशियल एक्शन टास्क फोर्स) ने पाकिस्तान को फिलहाल ग्रे लिस्ट में रखा है लेकिन आतंकी गतिविधियों को बढ़ावा देने के कारण उस पर रैड लिस्ट में शामिल किए जाने की तलवार अभी भी लटक रही है। इसके मद्देनजर भारत विरोधी हिंसक अभियान के लिए पाकिस्तान में आतंकी संगठनों द्वारा सरेआम की जाने वाली चंदा वसूली पर काफी हद तक अंकुश लगा है। खुद आर्थिक मंदी की शिकार हुई पाकिस्तान सरकार भी आतंकी संगठनों की ज्यादा मदद नहीं कर पा रही है इसलिए पाकिस्तान से भारत विरोधी एजेंडा चलाने वाले आतंकवादी संगठन भुखमरी की कगार पर पहुंच गए हैं। 

रिहायशी इलाकों में तैनात किए मोर्टार लांचर

पाकिस्तानी सेना को इस बात का आभास है कि भारतीय सेना कभी रिहायशी इलाके में सॢजकल स्ट्राइक नहीं करेगी जिससे ये आतंकवादी बच जाएंगे। इसी प्रकार एयर स्ट्राइक के खतरे के मद्देनजर पाकिस्तानी सेना ने नियंत्रण रेखा से सटे इलाके में कहीं एंटी एयरक्राफ्ट गन तो कहीं एंटी एयरक्राफ्ट मिसाइलें तैनात कर दी हैं।

Coronavirus: कर्जमाफी के अपील कर रहे इमरान खान हुए ट्रोल, यूजर्स ने कहा- देखों फिर आ गया मांगने!

पाक सेना ने आई.एस.आई. के परामर्श पर अपने सैनिकों एवं आतंकवादियों पर आधारित 4 बॉर्डर एक्शन टीमों (बैट) का गठन किया है और नियंत्रण रेखा पर ‘जब्बार’ में बेहद क्रूर मानी जाने वाली ‘642 मुजाहिद बटालियन’ की तैनाती कर दी है। पाकिस्तानी सेना के एफ-16 लड़ाकू विमानों ने नियंंत्रण रेखा के पास अभ्यास तेज कर दिया है जिससे पाकिस्तान युद्ध जैसी स्थिति बनाने का प्रयास कर रहा है लेकिन भारतीय सुरक्षा बलों की उसकी गतिविधियों पर पैनी निगाह है। 
गोलाबारी में भी बदलाव
सूत्रों का कहना है कि पाकिस्तानी सेना ने संघर्ष विराम का उल्लंघन करके भारतीय क्षेत्रों में अक्सर की जाने वाली गोलाबारी में भी बदलाव किया है। इसके लिए उसने अपनी मोर्टार गनों (लांचर) को अपनी सैन्य चौकियों की बजाय रिहायशी क्षेत्रों में तैनात कर दिया है ताकि जब भारतीय सेना नियंत्रण रेखा के उस पार से आए मोर्टार के स्रोत का पीछा करते हुए जवाबी कार्रवाई करे तो रिहायशी इलाके में नुक्सान हो जिसे पाकिस्तान अंतर्राष्ट्रीय मंचों पर भुना सके। यह भी उसकी रणनीति का हिस्सा है। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.