Thursday, Aug 11, 2022
-->
pawar-ncp-said-malik-being-harassed-for-speaking-against-misuse-of-central-agencies-rkdsnt

पवार बोले- केंद्रीय एजेंसियों के दुरुपयोग के खिलाफ बोलने पर मलिक को किया जा रहा परेशान

  • Updated on 2/23/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के अध्यक्ष शरद पवार ने यहां बुधवार को दावा किया कि महाराष्ट्र सरकार के मंत्री नवाब मलिक को इसलिए परेशान किया जा रहा है क्योंकि उन्होंने केंद्र सरकार और केंद्रीय जांच एजेंसियों के दुरुपयोग’’ के खिलाफ आवाज बुलंद की है। कथित धन शोधन मामले में मलिक से प्रवर्तन निदेशालय की पूछताछ के आलोक में पवार ने कहा कि राकांपा को आशंका थी कि इस प्रकार की कार्रवाई की जा सकती है क्योंकि मलिक खुल कर बोलते हैं। मलिक के कार्यालय की ओर से बुधवार को ट्वीट किया गया कि ईडी के अधिकारी सुबह मंत्री के आवास पर पहुंचे और उन्हें अपने वाहन में बैठाकर एजेंसी के कार्यालय ले गए। मंत्री के कार्यालय ने यह भी कहा कि मलिक 'नहीं डरेंगे और नहीं झुकेंगे।’’

नवाब मलिक ने ईडी की कार्रवाई पर कहा - लड़ेंगे और जीतेंगे, झुकेंगे नहीं

यह पूछे जाने पर कि क्या मलिक के विरुद्ध कार्रवाई इसलिए की जा रही है कि उन्होंने केंद्र और भाजपा के विरोध में बोला, पवार ने कहा, 'उन्होंने कौन सा मामला शुरू किया है? सीधी सी बात है। अगर कोई मुस्लिम कार्यकर्ता होता है (जिसके विरुद्ध कोई मामला शुरू किया जाता है) तो वह दाऊद का नाम लेते हैं...(संबंधित कार्यकर्ता और अंडरवल्र्ड के बीच) कोई संबंध नहीं होता लेकिन ऐसा किया जाता है।’’

बलात्कारी डेरा प्रमुख राम रहीम को जेड प्लस सुरक्षा, विपक्ष बोला- यही है मोदी जी का “न्यू इंडिया”

पवार ने कहा कि उन्हें भी 1990 के दशक की शुरुआत में इसी प्रकार निशाना बनाया गया था जब वह महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री थे और उनके विरोध में माहौल बनाया गया था। राकांपा अध्यक्ष ने कहा, च्च्तब से 25 साल बीत गए। इसी तरह से लोगों को बदनाम करने, सत्ता का दुरुपयोग करने और उन्हें परेशान करने के लिए (अंडरवर्ल्ड का) नाम लिया जाता है। जो लोग केंद्र के विरुद्ध और जांच एजेंसियों के दुरुपयोग के बारे में बोलते हैं, उन्हें परेशान किया जाता है और ऐसा ही यहां हो रहा है।’’

रामदेव विरोधी लिंक हटाने के आदेश के खिलाफ याचिका पर सुनवाई से जज ने खुद को किया अलग

 

 

राकांपा के 62 वर्षीय नेता मलिक यहां बलार्ड एस्टेट इलाके में स्थित ईडी कार्यालय में सुबह आठ बजे पहुंचे और एजेंसी ‘धन शोधन निवारण अधिनियम’ (पीएमएलए) के तहत उनका बयान दर्ज कर रही है। बताया जा रहा है कि एजेंसी सम्पत्तियों की खरीद-फरोख्त से मलिक के कथित रिश्तों की जांच कर रही है, इसलिए उनसे पूछताछ की जा रही है। मलिक पिछले कुछ महीनों से चर्चा में हैं, जब से उन्होंने स्वापक नियंत्रण ब्यूरो (एनसीबी) के मुंबई क्षेत्र के पूर्व निदेशक समीर वानखेड़े के विरुद्ध निजी और सेवा से जुड़े आरोप लगाए थे। मलिक के दामाद समीर खान को गत वर्ष मादक पदार्थ के एक मामले के एक मामले में एनसीबी ने गिरफ्तार किया था।

नवाब मलिक के समर्थन में कांग्रेस, कहा- साजिश के खिलाफ एकजुट होकर बोलने का समय है

 

अंडरवर्ल्ड की गतिविधियों, संपत्ति की अवैध रूप से कथित खरीद-फरोख्त और हवाला लेनदेन के संबंध में ईडी ने 15 फरवरी को मुंबई में छापेमारी की थी और एक नया मामला दर्ज किया था जिसके बाद मलिक से पूछताछ की जा रही है। एजेंसी ने 10 स्थानों पर छापेमारी की थी जिसमें 1993 के बम धमाके के मुख्य साजिशकर्ता दाऊद इब्राहीम की दिवंगत बहन हसीना पार्कर, भाई इकबाल कासकर और छोटा शकील के रिश्तेदार सलीम कुरैशी उर्फ सलीम फ्रूट के परिसर शमिल हैं। कासकर पहले से जेल में है जिसे एजेंसी ने पिछले सप्ताह गिरफ्तार किया था। ईडी ने पार्कर के बेटे से भी पूछताछ की थी।

 

सुप्रिया सुले ने किया साफ- केन्द्र के आगे कभी नहीं झकेंगे           
राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) की सांसद सुप्रिया सुले ने बुधवार को कहा कि महाराष्ट्र ने ना कभी केन्द्र के आगे घुटने टेके हैं और ना कभी टेकेगा। धन शोधन के एक मामले में, बुधवार को राकांपा नेता से प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की पूछताछ के बाद सुले ने यह बात कही। महाराष्ट्र से लोकसभा सांसद ने कहा कि ईडी की कार्रवाई से राकांपा को कोई अचंभा नहीं हुआ है। यह काफी दुर्भाग्यपूर्ण है कि केन्द्र अपनी ‘मशीनरी’ का इस्तेमाल भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों के खिलाफ ‘‘दमनकारी’’ तरीके से कर रही है।

भाजपा सांसद वरुण गांधी बोले- बैंक, रेलवे के निजीकरण से 5 लाख कर्मचारी हो जाएंगे बेरोजगार

     सुले ने एक टीवी चैनल से कहा, ‘‘यह अपेक्षित था, नवाब भाई को भी इसका अंदेशा था। उन्होंने पहले एक बार ट््वीट भी किया था कि अगई ईडी उनके घर आई तो वह उनके लिए चाय और बिस्कुट तैयार रखेंगे। क्या उन्होंने (मलिक को) कोई नोटिस जारी किया था? उन्हें करना चाहिए था। वहां (मलिक के घर से) से निकलने से पहले उनको नाशता भी मिल जाता, लेकिन उन्होंने नोटिस जारी ही नहीं किया।’’  राकांपा प्रमुख शरद पवार की बेटी सुले ने दावा किया कि ईडी का नोटिस केवल विपक्षी दलों के नेताओं को जारी किया जाता है।    उन्होंने बिना कोई नाम लिए तंज कसते हुए कहा, ‘‘ जब एक बार आप अपनी पार्टी छोड़कर उनके दल में शामिल हो जाते हैं, तो सभी नोटिस गायब हो जाते हैं या ‘श्रेडर’ (कागज काटने की मशीन) में चले जाते हैं। हमें पता होना चाहिए कि यह ‘श्रेडर’ कौन सा है।’’ सुले ने यह भी दावा किया कि ‘‘एक निश्चित पार्टी के लोगों’’ को पहले से पता होता है कि कब किस नेता के खिलाफ छापेमारी की जा रही है या कब किसे गिरफ्तार किया जा रहा है।  

पेगासस मामला : सुप्रीम कोर्ट जनहित याचिकाओं पर अब शुक्रवार को करेगा सुनवाई 

लोकसभा सदस्य ने कहा कि भाजपा नेता केन्द्रीय एजेंसी की कार्रवाई के बारे में टिप्पणी करने के लिए टविटर का बहुत अच्छे से इस्तेमाल करते हैं। उन्होंने कहा, ‘‘ वह अब भी ऐसा कर रहे हैं, लेकिन जीवन एक पूर्ण चक्र है।’’  सुले ने कहा, ‘‘ हम छत्रपति शिवाजी महाराज की संस्कृति में पले-बढ़े हैं। महाराष्ट्र ने ना कभी केन्द्र और दिल्ली के आगे घुटने टेके हैं और ना कभी टेकेगा।’’     गौरतलब है कि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) मुंबई अंडरवल्र्ड, भगौड़े डॉन दाऊद इब्राहीम और उसके साथियों की गतिविधियों से जुड़े धन शोधन के एक मामले में, बुधवार को महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक से पूछताछ कर रही है।      अंडरवल्र्ड की गतिविधियों, सम्पत्ति की अवैध रूप से कथित खरीद-फरोख्त और हवाला लेनदेन के संबंध में ईडी ने 15 फरवरी को मुंबई में छापेमारी की थी और एक नया मामला दर्ज किया था, जिसके बाद मलिक से पूछताछ की जा रही है। 

 

comments

.
.
.
.
.